छुट्टियों में भी जारी रहेगा लिंगदोह सिफारिश का विरोध

  • छुट्टियों में भी जारी रहेगा लिंगदोह सिफारिश का विरोध
You Are HereNational
Saturday, November 16, 2013-8:59 PM

नई दिल्ली: दिसंबर के पहले हफ्ते से हो रही जेएनयू की छुट्टियों के लिए छात्रसंघ ने कमर कस ली है। जेएनएसयू सेमेस्टर एग्जाम के ठीक बाद शुरू हो रहे इन छुट्टियों को छात्रों के हॉस्टल टू हॉस्टल कैंपेन चलाएगा।

जेएनयू में पांच दिसंबर से चार हफ्तों के लिए विंटर वैकेशन होगा। इस दौरान दो प्रमुख मुद्दों लिंगदोह सिफारिश और यूपीएससी में हुए बदलाव का विरोध पर छात्रों को एकजुट करने की कोशिश होगी। छात्रसंघ ने दोनों की मुद्दों पर हाल में प्रदर्शन और विरोध दर्ज कराया है लेकिन छात्रसंघ की मानें तो यह नाकाफी है। इसके लिए आगे अभियान जारी रहेगा।

छात्रसंघ का कहना है कि छात्रों को लिंगदोह की सिफारिश को लागू किए जाने से हो रहे नुकसान के बारे में बताया जाएगा। जेएनयू का अपना चुनाव मॉडल फिर से लागू करने और लिंगदोह सिफारिश पर पुनर्विचार करने के लिए मांग तेज करने के लिए रास्ते भी बनाए जाएंगे।

उपाध्यक्ष अनुभूति अग्नेश ने कहा कि हमनें इसी हफ्ते सुप्रीम कोर्ट में अपनी मांगो का आवेदन सौंपा है। उन्होंने कहा कि यूपीएसएसी में अरबी और फारसी भाषा को हटाने के विरोध में हम आगे भी आंदोलन करेंगे। इसीलिए छुट्टियों के दौरान हॉस्टलों में कैपेनिंग की जाएगी। छात्रों को मुद्दों के विभिन्न पहलुओं के बारे में बताया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You