मोदी ने ली राहुल पर चुटकी, कहा- ‘ऐसी भी रैलियां हैं, जहां कहा जाता है, रूक जाओ'

  • मोदी ने ली राहुल पर चुटकी, कहा- ‘ऐसी भी रैलियां हैं, जहां कहा जाता है, रूक जाओ'
You Are HereNational
Tuesday, November 19, 2013-4:59 PM

अलवर: भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने 17 नवंबर को दिल्ली में हुई राहुल गांधी की रैली में बहुत कम लोगों के जुटने का मुद्दा उठाया। मोदी ने राहुल की रैली की तुलना अपनी रैली में जुटी भीड़ से भी की। मोदी ने कहा, ‘‘ऐसी भी रैलियां हैं, जहां लोगों से कहा जाता है, ‘रूको, जाओ, रूको, जाओ।’ और ऐसी भी रैलियां हैं जहां मुझे लोगों से इसलिए माफी मांगनी पड़ रही थी क्योंकि वे मुझे देख नहीं पाए थे।’’

प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा के उम्मीदवार मोदी दरअसल 17 नवंबर की रैली में दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित द्वारा की गई उस अपील की ओर इशारा कर रहे थे, जिसमें वह भीड़ के कुछ हिस्सों से कांग्रेस उपाध्यक्ष के भाषण तक इंतजार करने के लिए कह रही थीं। जस्थान सरकार के कामकाज के बारे में न्यायालय की एक अहम टिप्पणी का हवाला देते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री ने कहा कि अशोक गहलोत सरकार ‘‘पिछले 55 माह तक सोई हुई थी और पिछले पांच माह में जागी है।’’

मोदी ने पूछा, ‘‘क्या सरकार सिर्फ चुनाव जीतने का एक जरिया मात्र है?’’ व्यंग्यात्मक लहजे में मोदी ने कहा, ‘‘गहलोत जी राजस्थान के नंबर एक राज्य होने का दावा करते हैं। मैं उनके इस दावे का समर्थन करने के लिए यहां हूं। यह राज्य अनुसूचित जातियों के खिलाफ अत्याचार के मामलों, दूषित पेय जल सुविधा और आपराधिक आरोपों में सबसे ज्यादा मंत्रियों के जेल में बंद होने के मामलों में नंबर एक पर है।’’ गुजरात के विकास पर गहलोत द्वारा की गई आलोचनाओं को हल्के तौर पर लेते हुए मोदी ने कहा कि इसे (गुजरात के विकास को) भारत और विदेशों में पहचान मिली है और इसके लिए उन्हें राजस्थान के मुख्यमंत्री के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है।

राजस्थान के बड़े हिस्सों में गुणवत्तापूर्ण पानी उपलब्ध न होने की बात कहते हुए मोदी ने कहा, ‘‘राजस्थान और गुजरात का भूगोल लगभग एक जैसा ही है। मैंने पानी उपलब्ध करवाने के लिए पाकिस्तान की सीमा तक पाइपलाइनें बिछाई हैं। ये पाइप इतने बड़े हैं कि गहलोत जी और उनका परिवार इसमें एक मारूति कार में बैठकर सफर कर सकता है।’’ भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने कहा कि संप्रग सरकार जमीन से लेकर आसमान तक हर जगह घोटालों में शामिल है। कालेधन का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने कहा कि संप्रग भ्रष्ट लोगों को संरक्षण दे रही है। मोदी ने आगे कहा कि एक ऐसा कानून होना चाहिए, जो यह सुनिश्चित करे कि सरकार को देश के भीतर और विदेश में पंजीकृत बैंक खातों की जानकारी हो।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You