अवैध कब्जा से निगम पार्क की हरियाली हो रही गायब

  • अवैध कब्जा से निगम पार्क की हरियाली हो रही गायब
You Are HereNational
Tuesday, November 19, 2013-5:32 PM

नई दिल्ली : हर चुनाव से पहले लोगों को नेताओं द्वारा बेहतरी की बात करना कोई नई बात नहीं है। पिछले विधान सभा चुनाव के दौरान भी ख्याला के लोगों को सैर-सपाटे के लिए खुबसूरत और हरियाली से परिपूर्ण पार्क का सपना दिखाया गया था।

इस दौरान लगभग 5 साल का समय बीता, चुनाव फिर से आ गए लेकिन ख्याला के पार्क की स्थिति सुधरने के बजाय और बिगड़ गई है। पार्क की बदहाली से ख्यालावासी खासे नाराज हंै। लोगों के दर्जनों शिकायतों के बाद भी स्थानीय जनप्रतिनिधि हर बार इस मामले को टाल जाते हैं।

वर्ष 2003 में विकसित हुआ था पार्क :
करीब 3 हजार गज में फैले इलाके निगम पार्क को तकरीबन वर्ष 2003 में विकसित किया गया था। उस समय यहां काफी संख्या में पौधे लगाए गए थे।

लाखों खर्च कर पार्क की चारदीवारी पर लोहे की रेङ्क्षलग, बैठने के लिए बेंच, पानी की मोटर आदि यहां वह सभी व्यवस्था की गई थी जिससे लोग यहां आकर हरियाली के बीच अपना समय बीता सके लेकिन रखा-रखाव के अभाव के चलते वर्तमान में पार्क कूड़ा घर में तब्दील हो गया है जिससे अब लोगों ने यहां आना ही छोड़ दिया है।

पार्क में बनी झुगियां:
पार्क बंजर हालात में है। यहां पर जगह-जगह कूड़े का ढेर लगे हुए हैं। पार्क में हरियाली का नामों-निशान भी नहीं है। हर जगह गंदगी का अंबार लगा हुआ है। हालांकि निगम के उपायुक्त ने स्पष्ट किया है कि पार्क की स्थिति को पता किया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You