जेटली सीडीआर केस: अदालत का पांच आरोपियों को जमानत से इंकार

  • जेटली सीडीआर केस: अदालत का पांच आरोपियों को जमानत से इंकार
You Are HereNational
Thursday, November 21, 2013-2:12 PM

नई दिल्ली: भाजपा नेता अरुण जेटली तथा अन्य के कॉल रिकार्ड का कथित रूप से ब्यौरा हासिल करने वाले दिल्ली पुलिस के चार कर्मचारियों समेत पांच आरोपियों को अदालत ने आज यहां जमानत देने से इनकार कर दिया और कहा कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोप ‘‘बेहद गंभीर प्रकृति ’’ के हैं।

मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अमित बंसल ने सहायक सब इंस्पेक्टर गोपाल दास, हेड कांस्टेबल हरीश सिंह तथा राज कुमार और कांस्टेबल हरीश कुमार एवं एक अन्य पुनीत वर्मा की जमानत याचिकाओं को खारिज कर दिया।

इन आरोपियों को गैर अधिकृत तरीके से 22 कॉल रिकार्ड ब्यौरा (सीडीआर ) हासिल करने के मामले में कुछ अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया गया था।

अदालत ने कहा, ‘‘याचिकाकर्ताओं के खिलाफ लगाए गए आरोप बेहद गंभीर प्रकृति के हैं। याचिकाकर्ताओं ने जानबूझकर और अन्य आरोपियों के साथ साजिश रचकर विभिन्न लोगों के निजता के अधिकार का उल्लंघन किया और इस प्रकार संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत प्रदत्त जीवन और स्वतंतत्रता के उनके मौलिक अधिकार को आघात पहुंचाया।’’

उनकी जमानत याचिकाओं को खारिज करते हुए अदालत ने यह भी कहा कि यदि इस चरण में उन्हें जमानत दे दी जाती है तो आरोपी सबूतों से छेड़छाड़ कर सकते हैं।

अदालत ने कहा, ‘‘ अपराध को अंजाम देने के तौर तरीकों और सबूतों की प्रकृति को देखते हुए ऐसा लगता है कि याचिकाकर्ता इस चरण में जमानत की स्वतंत्रता का उल्लंघन कर सकते हैं और यदि जमानत याचिकाएं स्वीकार कर ली जाती हैं तो वे सबूतों से छेड़छाड़ कर सकते हैं ।’’

 दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा ने यह कहते हुए जमानत याचिकाओं का विरोध किया था कि मामले में जांच शुरुआती चरण में है और कई महत्वपूर्ण पहलुओं का अभी पता लगाया जाना बाकी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You