विकास के साथ है बटला हाउस मुठभेड़ का मुद्दा

  • विकास के साथ है बटला हाउस मुठभेड़ का मुद्दा
You Are HereNational
Wednesday, November 27, 2013-12:50 AM

नई दिल्ली : विकास व महंगाई कम करने का मुद्दा तो पूरी दिल्ली में छाया हुआ है, लेकिन ओखला विधानसभा क्षेत्र में एक अलग ही मुद्दो जोर पकड़ता जा रहा है।

यह मुद्दा है, बटला हाउस मुठभेड़ का, जिसे यहां के आप व कांग्रेस दोनों ही पार्टी के प्रत्याशी पूरी तरह से भुना रहे हैं। जिससे मुस्लिम वोट का बंटना तय है, दूसरी ओर बसपा व भाजपा के गुर्जर प्रत्याशियों के बीच भी मुकाबला दिलचस्प होने से यह वोट भी बंटता दिख रहा है।

अब यह तो चुनाव परिणाम ही बताएगा कि जीत का सेहरा किसके सिर बंधता है। कॉलोनियों को नियमित किए जाने जैसे विकास के मुद्दे, बटला हाउस मुठभेड़ का साया और गुर्जर समुदाय के कुछ उम्मीदवारों के साथ मुस्लिम उम्मीदवारों की मौजूदगी ने संवेदनशील ओखला निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव को काफी जटिल बना दिया है।

करीब 50 प्रतिशत मुस्लिम गुर्जर 15 प्रतिशत गुर्जर और 11 प्रतिशत ओबीसी मातदाताओं वाले इस विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार जोर पकड़ता जा रहा है। नामी-गिरामी मुस्लिम नेताओं के मैदान में उतरने से मुकाबला काफी रोचक होने की उम्मीद है।

वहीं, बटला हाउस मुठभेड़ के पांच साल बाद भी ओखला निर्वाचन क्षेत्र में नेता इस मुद्दे को उठा रहे हैं और उन्हेंं लगता है कि अतीत की तरह इस बार भी लाभ मिल सकता है। अब देखना यह दिलचस्प होगा कि जीत का सेहरा किसके सिर बंधता है, क्योंकि इस सीट से कांग्रेस व आम आदमी पार्टी ने मुस्लिम कार्ड खेला है, वहीं बहुजन समाज पार्टी तथा भाजपा गुर्जर उम्मीदवार पर दाव आजमा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You