गोस्वामी को सीट बचाना हो सकता है मुश्किल

  • गोस्वामी को सीट बचाना हो सकता है मुश्किल
You Are HereNational
Thursday, November 28, 2013-7:56 PM

नयी दिल्ली : सत्ता-विरोधी मजबूत लहर, कांग्रेस में आपसी कलह के अलावा बंद नालियों, टूटी सड़कों, दूषित जल आपूर्ति एवं अनियोजित विकास जैसी आम समस्याओं की वजह से यातायात मंत्री रमाकांत गोस्वामी के लिए अपनी राजेंद्र नगर की सीट बचाना काफी मुश्किल हो सकता है।

राजेंद्र नगर मुख्य रूप से पंजाबी शरणार्थियों का निवास स्थान रहा है और वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव से पहले तक यहंा भाजपा की मजबूत पकड़ थी। इस बार भाजपा ने आर.पी.सिंह को गोस्वामी के खिलाफ मजबूत दावेदार मानते हुए मैदान में उतारा है।

गोस्वामी से पहले इस विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व भाजपा के पूरन चंद योगी ने किया था। वे 1993 से इस क्षेत्र के प्रतिनिधि थे और पिछले चुनावों में भी उनके जीतने की संभावना थी। उन्होंने चुनाव से एक माह पहले कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी, जिसके बाद उनकी पत्नी आशा को मैदान में उतारा गया था।

गोस्वामी को यहां के निवासियों से कोई बहुत प्रभावशाली प्रतिक्रिया नहीं मिली है क्योंकि लोगों का कहना है कि अपने कार्यकाल के दौरान इन्होने कुछ भी नहीं किया। कांग्रेस के एक बड़े वर्ग ने गोस्वामी को टिकट देने का कड़ा विरोध भी किया था।

उन्होंने एक आंतरिक रिपोर्ट के हवाले से कहा था कि यदि गोस्वामी को प्रत्यााशी के रूप में चुना जाता है तो पार्टी को हार का मुंह देखना पड़ेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You