महिला जासूसी के अपराधों पर मिलेगी सख्त सजा : आरपीएन

  • महिला जासूसी के अपराधों पर मिलेगी सख्त सजा : आरपीएन
You Are HereNational
Friday, November 29, 2013-2:45 PM

नई दिल्ली: केन्द्रीय मंत्री आर.पी.एन. सिंह ने आज कहा कि महिला की जासूसी, उसका पीछा करने या उसकी इज्जत पर हाथ डालने जैसे अपराधों पर सख्त सजा दी जाएगी और इस मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। गृह राज्य मंत्री ने यहां कहा, ‘कोई व्यक्ति अगर किसी महिला के साथ अशिष्ट व्यवहार करता है या उसकी जासूसी अथवा पीछा करता है या फिर उसकी इज्जत पर हाथ डालता है तो सरकार ने जो कड़े कानून बनाए हैं, उनके तहत उसे सज़ा मिलेगी। ऐसे मामलों में कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए।

राजनीति से उपर उठ कर ऐसे व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।’ सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से बातचीत के दौरान सिंह ने यह बात कही। उनकी यह टिप्पणी गुजरात में एक महिला वास्तुकार की अवैध जासूसी और तहलका के संपादक तरूण तेजपाल द्वारा अपनी सहकर्मी पर कथित यौन हमला करने के परिप्रेक्ष्य में आई है। सिंह ने यह भी कहा कि गृह मंत्रालय असम सरकार से भी उस घटना की रिपोर्ट मांगेगा जिसमें कथित रूप से एक महिला को टेम्पो टेक्सी से फेंक दिए जाने पर उसकी मृत्यु हो गई।

उक्त कार्यक्रम में एसएसबी के 50 वर्ष पूरे होने के अवसर पर एक स्मारक डाक टिकट का मंत्री ने अनावरण किया। चीन के हमले के बाद एसएसबी का 1963 में गठन किया गया था। यह बल इन दिनों 1751 किलोमीटर लंबी, नेपाल से लगी भारत की ‘खुली’ सीमा और भूटान से लगी 699 किलोमीटर लंबी सीमा की निगरानी करता है। बल इन सीमाओं पर खुफिया जानकारी भी एकत्र करता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You