10 साल से कांग्रेस को जीत का इंतजार

  • 10 साल से कांग्रेस को जीत का इंतजार
You Are HereNational
Friday, November 29, 2013-11:57 PM

नई दिल्ली(निहाल सिंह): दक्षिणी दिल्ली की तुगलकाबाद सीट पर सबकी नजरें  कांग्रेसी प्रत्याशी पर ज्यादा हैं कि क्या वह लगातार 2 बार से चुनाव जीत रहे भाजपा के रमेश बिधूड़ी को हैट्रिक लगाने से रोक पाएंगे।

4 निर्दलीय उम्मीदवारों के साथ बसपा और जे.डी.यू. भी इस सीट से चुनावी मैदान में है। गुर्जर बाहुल्य मतदाताओं वाली इस सीट पर वोटों के ध्रुवीकरण के लिए बसपा और कांग्रेस दोनों ने ही गुर्जर प्रत्याशी को मैदान में उतारा है।

इस सीट पर बेशक रमेश विधूड़ी की पकड़ ज्यादा मजबूत लग रही है लेकिन कांग्रेस के ओम प्रकाश विधूड़ी भी जी-तोड़ कोशिश कर रहे हैं। वहीं, बसपा के राम बिधूड़ी भी कांग्रेस और भाजपा को टक्कर  देने के लिए दोनों दलों के नाराज कार्यकत्र्ताओं को मनाकर उनकी मदद ले रहे हैं।

इतिहास: वर्ष 1993 में पहली बार यहा से निर्दलीय तौर पर शीश पाल जीत कर आए। 1998 की विधानसभा से कांग्रेस में शामिल होकर दूसरी बार शीश पाल विधायक बने लेकिन तीसरी बार 2003 के चुनाव में भाजपा ने इस सीट से खाता खोलने के बाद वर्ष 2008 के चुनावों में भी जीत दर्ज की।

समस्याएं: इलाके में पानी, सीवर और सड़क की समस्याएं है। बार-बार होते निर्माण कार्यों की वजह से स्थानीय जनता परेशान है तो वहीं, विधायक अपने कार्यकाल में किए गए कार्यों को गिनाकर वोट मांग रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You