यासीन भटकल की गिरफ्तारी में बिहार सरकार के रवैये की आलोचना

  • यासीन भटकल की गिरफ्तारी में बिहार सरकार के रवैये की आलोचना
You Are HereNational
Tuesday, December 03, 2013-12:46 PM

नई दिल्ली : इंडियन मुजाहिद्दीन के सह संस्थापक और वांछित आतंकवादियों की सूची में शामिल यासीन भटकल की गिरफ्तारी में बिहार सरकार के कथित रूप से सहयोग नहीं करने का मुद्दा आज राज्यसभा में उठा। भारतीय जनता पार्टी के राजीव प्रताप रूढी ने आज शून्यकाल के दौरान सदन में इस मुद्दे को उठाते हुये कहा कि पूरे देश में जिस आतंकवादी की तलाश थी और जिस पर दिल्ली पुलिस 15 लाख रूपये के इनाम की घोषणा की थी उसकी गिरफ्तारी से राज्य सरकार का इंकार करना दुखद है।

उन्होंने कहा कि भटकल वर्ष 2007 से दरभंगा में यूनानी चिकित्सक के रूप में रह रहा था और बिहार की एक युवती के साथ शादी भी रचा ली थी। इस आतंकवादी की कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल , गुजरात , महाराष्ट्र और दिल्ली पुलिस को तलाश थी। उन्होंने कहा कि हाल में तीन आतंकवादियों की गिरफ्तारी हुयी है और इसके लिए केन्द्रीय एजेंसियां बधाई के पात्र हैं। गृह मंत्री ने कहा है कि दाउद इब्राहिम को भी जल्द ही भारत ले आयेंगे। लेकिन भटकल की गिरफ्तारी में राज्य सरकार का उदासीन रवैया निराशाजनक है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You