आठ जवानों की हत्या के बाद नक्सलियों के खिलाफ अभियान तेज

  • आठ जवानों की हत्या के  बाद नक्सलियों के खिलाफ अभियान तेज
You Are HereNational
Thursday, December 05, 2013-2:38 PM

औरंगाबाद: बिहार में नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले के नवीनगर थाना क्षेत्र के चंद्रगढ़ गांव के निकट दो दिन पूर्व बारुदी सुरंग विस्फोट की घटना में थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत के बाद बिहार और झारखंड राज्यों के सीमावर्ती इलाके में नक्सलियों के खिलाफ पुलिस अभियान तेज कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक उपेन्द्र कुमार शर्मा ने आज यहां बताया कि नक्सलियों की गिरफ्तारी के लिए चलाये जा रहे विशेष अभियान में कें द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), बिहार सैन्य पुलिस (बीएमपी) और स्पेशल आग्जिलरी पुलिस (सैप) के  जवानों को लगाया गया है। उन्होंने बताया कि इस अभियान में झारखंड की पलामू पुलिस का भी सहयोग लिया जा रहा है।
 
शर्मा ने बताया कि औरंगाबाद में घटना को अंजाम देने के बाद से नक्सलियों के पड़ोसी जिलों में छिपे होने की आशंका के मद्देनजर रोहतास, कैमूर और गया में भी अभियान चलाया जा रहा है। हालांकि उन्होंने कहा कि इस अभियान में पुलिस को अभी तक कोई खास सफलता हाथ नहीं लगी है। लेकिन उम्मीद की जा रही है कि एक-दो दिनों में इस घटना में शामिल नक्सलियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नक्सलियों की गिरफ्तारी और इस तरह की घटना की पुनरावृति न हो इसके लिए रणनीति बनायी गर्इ है।

हालांकि उन्होंने सुरक्षा कारणों से इस रणनीति का खुला नहीं किया। उन्होंने कहा कि घटना के बाद से सभी थानों को विशेष रुप से चौकसी बरतने और सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है। इस बीच अपर पुलिस महानिदेशक (विधि-व्यवस्था) एस.के.भारद्वाज ने बताया कि बारुदी सुरंग विस्फोट की घटना में शहीद जवानों के आश्रितों को बतौर मुआवजा तीस-तीस लाख रुपये दिये जायेंगे। उन्होंने बताया कि शहीद जवानों के आश्रितों को बीमा कंपनी की ओर से 19-19 लाख का भुगतान किया जायेगा .वहीं राज्य सरकार की ओर से दस-दस लाख रुपये दिये जाएंगे।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You