मध्यप्रदेश चुनाव परिणाम निराशाजनक, आत्मनिरीक्षण की जरूरत: सिंधिया

  • मध्यप्रदेश चुनाव परिणाम निराशाजनक, आत्मनिरीक्षण की जरूरत: सिंधिया
You Are HereNational
Sunday, December 08, 2013-3:16 PM

नई दिल्ली: मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में हार स्वीकार करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रचार समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज ‘‘बड़े पुनर्गठन’’ और पार्टी में आत्मनिरीक्षण का आह्वान किया। सिंधिया ने कहा, ‘‘निश्चित रूप से हमारे लिए यह बहुत निराशाजनक है। यह बड़े पुनर्गठन और पार्टी में आत्मनिरीक्षण की जरूरत बताता है। यह कुछ ऐसा है जिसकी हमने कभी कल्पना नहीं की थी।’’ केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस का प्रदेश नेतृत्व पार्टी की जीत सुनिश्चित करने में नाकामयाब रहा।

 

उन्होंने कहा, ‘‘हम तमाम मोचो’ पर नाकाम हुए, नाकाम और नाकाम। एक बार फिर देखने की जरूरत है राज्य का सामूहिक नेतृत्व (पार्टी की हार के लिए) जिम्मेदार है।’’ सिंधिया का ख्याल है कि नरेन्द्र मोदी, जिन्होंने राज्य में आक्रामक प्रचार किया, का राज्य पर कोई असर नहीं था। उन्होंने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को उनकी जीत पर बधाई दी। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि नरेन्द्र मोदी का कोई प्रभाव था। अगर मध्य प्रदेश में किसी का प्रभाव था तो वह हैं शिवराज सिंह चौहान। मैं उन्हें दिल से बधाई देता हूं।’’

 

लोकसभा में मध्य प्रदेश की गुना सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले सिंधिया ने कहा कि विधानसभा चुनाव का अगले साल होने वाले आम चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा, ‘‘यह लोकसभा चुनाव के लिए एक प्रतिबिंब नहीं है। 2008 में, याद है कि हमें मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हार मिली थी, लेकिन हम लोकसभा चुनाव जीते।’’ सिंधिया ने कहा कि राज्य में पार्टी नेतृत्व को मजबूत करने की जरूरत है। ‘‘हमें राज्य में दलित-ओबीसी संयोजन और पार्टी कैडर पर काम करने की जरूरत है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You