विधानसभा में पहली बार बैठेंगे 9 सिख विधायक

  • विधानसभा में पहली बार बैठेंगे 9 सिख विधायक
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-12:28 PM

नई दिल्ली (सुनील पाण्डेय) : दिल्ली की 5वीं विधानसभा के हुए चुनावों में इस बार हाऊस में 9 सिख विधायक नजर आएंगे। यह पहला मौका होगा, जब भारी संख्या में सभी तीनों राजनीजिक पार्टियों से विजयी होकर सिख विधायक पहुंचे हैं।

दिल्ली  में सिख भी अल्पसंख्यक कैटेगिरी में आते हैं। अल्पसंख्यक कैटेगिरी का दूसरा बड़ा हिस्सा मुसलमान हैं, जिनकी संख्या पिछली बार की तरह इसबार भी 5 ही है। इसमें से 4 कांग्रेसी और 1 जे.डी.यू. का है। सिख विधायकों की बहुलता से समाज के दिग्गज गदगद हैं। उनकी नजर में यह एक अच्छा संकेत है।

सिख विधायक चाहे जिस भी राजनीतिक दल का प्रतिनिधित्व करता हो, लेकिन वह है तो सिख। यही मानकर उनके समाज के लंबरदार खुश हैं। सिख विधायकों की बात करें तो 3 विधायक शिरोमणि अकाली दल से (राजौरी गार्डन से मनजिंदर सिंह सिरसा, कालकाजी से हरमीत सिंह कालका, शाहदरा से जितेंद्र सिंह शैंटी) जुड़े हैं, जबकि, एक विधायक भारतीय जनता पार्टी से राजेंद्र नगर से आरपी सिंह हैं।

ये चारों विधायक पहली बार विधानसभा सत्र की कार्रवाई में भाग लेंगे, जबकि कांग्रेस पार्टी से मात्र 2 सिख विधायक ही अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे हैं। इसमें से पहले सिख विधायक अरविंदर सिंह लवली हैं, जो पिछली दो सरकारों में मंत्री रहे हैं। इसके अलावा दूसरे सिख हैं प्रहलाद सिंह साहनी जो चांदनी चौक विधानसभा से लगातार जीतते आए हैं।

वहीं  3 विधायक अरविंद केजरीवाल की नवगठित पार्टी (आम आदमी पार्टी ) से आए हैं, जो सचमुच आम आदमी हैं। इनमें हरि नगर सीट से जगदीप सिंह, तिलक नगर से जरनैल सिंह एवं जंगपुरा विधानसभा सीट से मनिंदर सिंह धीर जीते हैं। तीनों कंडीडेटों ने पहली बार चुनाव लड़ा और जीत हासिल की।

सिखों के बाद मुस्लिमों की बात करें तो इस समुदाय से 5 विधायक जीत कर आए हैं। ये पांचों विधायक पिछली बार भी विधानसभा में बैठे थे। इसमें कांग्रेस पार्टी से 4 और जे.डी.यू. से 1 विधायक विजय हुई हैं। ऐसा कह सकते हैं कि कांग्रेस की नैय्या भी इस बार अल्पसंख्यक कोटे के कंडीडेटों ने ही पार लगाई है।

कांग्रेस के मुस्लिम विधायकों में बल्लीमारन सीट से हारून यूसुफ, ओखला से आसिफ मोहम्मद खान, सीलमपुर से चौधरी मतीन अहमद और मुस्तफाबाद से हसन अहमद जीते हैं।  बता दें कि  शिरोमणि अकाली दल से जीते 3 विधायकों ने खुशी जताते हुए पंथ के प्रति विश्वास जताया है। सिखों की राजनीति में बढ़ती दखल से समाज के लोग गदगद हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You