ट्रामा सेंटर में मरीजों की सेवा करे आरोपी: जे आर मिढ़ा

  • ट्रामा सेंटर में मरीजों की सेवा करे आरोपी: जे आर मिढ़ा
You Are HereNational
Wednesday, December 11, 2013-9:43 PM

नई दिल्ली : लोहे की रॉड से दो युवकों को घायल करने वाले आरोपी युवक को अब एक महीने तक ट्रामा सेंटर में मरीजों की सेवा करनी होगी।  न्यायमूर्ति जे.आर.मिढ़ा ने आरोपी युवक आजम को अंतरिम जमानत देते हुए यह आदेश दिया है।

आरोपी युवक को सफदरजंग एन्कलेव स्थित जय प्रकाश नारायण ट्रामा सेंटर में मरीजों की सेवा करनी होगी। अदालत ने आजम पर दस हजार रुपए के निजी मुचलके व एक जमानती लाने की शर्त पर 40 दिन की अंतरिम जमानत दी है। ताकि वह समाज सेवा कर सकें।

न्यायालय ने अपने फैसले में कहा कि आजम जमानत पर रिहा होने के बाद सफदरजंग एन्कलेव थानाध्यक्ष से मिले और ट्रामा सेंटर में प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से रात 9 बजे तक मरीजों की देखभरल में चिकित्सकों की मदद करे। अब इस मामले की सुनवाई 7 जनवरी को होगी।

फतेहपुर बेरी थाना की पुलिस ने फरवरी में चांदन होला गांव निवासी अरशद अली व उसके भाई अजीज की शिकायत पर उनके पड़ोसी आजम के खिलाफ गैर इरादतन हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया था। इन दोनों भाईयों का आरोप है कि उन्होंने आजम को पांच हजार रुपए उधार दिए थे,जब वापिस मांग तो आरोपी आजम ने उनसे लड़ाई शुरू कर दी।

सरकारी वकील ने आपत्ति जताई कि आजम के खिलाफ दर्ज केस को अभी रद्द नहीं किया जाना चाहिए। उसे एहसास दिलाया जाना चाहिए कि उसने क्या अपराध किया है। इसलिए उससे मरीजों की सेवा कराई जाए ताकि उसे अपनी गलती का अहसास हो।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You