कांग्रेसी नेता कर रहे हैं अपने हार की समीक्षा

  • कांग्रेसी नेता कर रहे हैं अपने हार की समीक्षा
You Are HereNational
Thursday, December 12, 2013-9:24 PM

नई दिल्ली : विधानसभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद कांग्रेसी नेता अब आमने-सामने आ गए हैं। परिणामा के बारे में केवल इतना ही कह रहे हैं कि हम हार के कारणों की समीक्षा कर रहे हैं।

वहीं नेता इस परिणाम का खांका खींचने में लग गए है, ताकि साक्ष्यों के साथ हाईकमान के सामने अपनी बात रखकर हार के मूल कारणों से अवगत करा सके। प्रदेश नेतृत्व उन मुद्दों को ले रहा है, जिसे उसने स्क्रीनिंग कमेटी के समक्ष रखा था। लेकिन शीला के दबाव में उन्हें दरकिनार कर दिया गया।

नेता मानते हैं कि कांग्रेस दिल्ली के मतदाताओं से अपने को जोड़ पाने में बुरी तरह असफल रही है। वहीं, शीला दीक्षित को विकास के नाम पर लगातार चौथी बार सत्ता में आने का पूरा भरोसा था। एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि हमारा अभियान पूरी तरह नकारात्मक रहा है। कांग्रेस के परम्परागत मतदाताओं को भी हम कनेक्ट नहीं कर पाए।

पार्टी नेताओं का कहना है कि बिजली-पानी की दरें किसने बढ़ाई, जबकि प्रदेश संगठन ने दरें बढ़ाने का विरोध किया था। बताया जाएगा कि शीला ने विकास को मुद्दा बनाकर संगठन को दरकिनार किया था । ऐसे में संगठन पर जवाबदेही कैसे तय की जा सकती। जब कांग्रेस हाईकमान द्वारा बुलावा आएगा तो वह उस फोरम पर हार के कारणों की पूरी दास्तान साक्ष्यों के साथ रखेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You