सांस्कृतिक संगम वाला मैट्रो स्टेशन होगा मंडी हाऊस

  • सांस्कृतिक संगम वाला मैट्रो स्टेशन होगा मंडी हाऊस
You Are HereNcr
Thursday, December 19, 2013-12:03 PM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): मंडी हाऊस आसपास इलाके के  थिएटरों व अकादमियों में अलग-अलग कलाकार अपनी कला की प्रस्तुति तो कर ही रहे हैं लेकिन वह दिन भी दूर नहीं, जब इन सभी कलाकारों का संगम एक ही जगह पर होगा। यहां गायन, वादन, नृत्य, नाटक व साहित्य जगत के कलाकार, कथाकार व साहित्यकार तो होंगे ही, इन्हें देखने वाले दर्शक भी मौजूद होंगे। जो अपने चहेते कलाकारों को मंच से बाहर निजी जिंदगी को जिते हुए देखेंगे।

इसके लिए आपको चार महीने से भी कम समय का इंतजार करना होगा। इसके बाद आपको यह अदभुत संगत देखने को मिलेगा। दरअसल दिल्ली मैट्रो रेल निगम अपने तीसरे चरण में मंडी हाऊस मैट्रो स्टेशन को इंटरचेंज बनाने जा रहा है। यहां से फरीदाबाद, बदरपुर, केंद्रीय सचिवालय, आई.टी.ओ. व कश्मीरी गेट जाने-आने वाले यात्रियों का आवागमन शुरू होने के साथ नोएडा, द्वारका, वैशाली रूटों पर सफर करने वाले यात्री भी मैट्रो बदल सकेंगे।

गौरतलब है कि मंडी हाउस में अनेक थिएटर व अकादमी हैं, जहां प्रतिदिन हजारों कलाकार अपनी कला की प्रस्तुति तथा पढ़ाई करने आते हैं। साथ ही इन कलाओं के शौकीन भी हर दिन हजारों की संख्या में यहां पहुंचते हैं। लेकिन सभी अपने-अपने पसंदीदा जगहों पर चले जाते हैं और किसी को भी किसी से मिलने का मौका नहीं मिल पता है। लेकिन डीएमआरसी इस स्टेशन को इंटरचेंज बनाने का फैसला कर कलाकारों का संगम बनाने की कोशिश में जुट गया है।

डी.एम.आर.सी. अधिकारियों का कहना है कि इस जगह की प्रधानता को देखते हुए हम इस स्टेशन की दीवारों को साहित्य व रंगमंच का लुक भी देने की तैयारी में हैं। हमारी कोशिश है कि इस स्टेशन की दीवारों को इस तरह का लुक दिया जाए जिससे यहां से सफर करने वाले यात्रियों को भी इस जगह की जानकारी मिलेगी।

मंडी हाऊस आसपास : राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय, श्रीराम सैंटर, साहित्य कला अकादमी, ललित कला अकादमी, फिक्की सभागार, कमानी सभागार, दूरदर्शन, मंडी हाउस, हिमाचल भवन, हरियाणा भवन समेत दर्जन भर से ज्यादा ऐसी जगहें हैं, जहां हर दिन हजारों कलाकार आते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You