प्रधानमंत्री से सौराष्ट्र के मछुआरों का प्रतिनिधिमंडल मिला

  • प्रधानमंत्री से सौराष्ट्र के मछुआरों का प्रतिनिधिमंडल मिला
You Are HereNational
Friday, December 20, 2013-5:00 PM

नई दिल्ली: गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अर्जुन मोधवाडिया की अगुवाई में सौराष्ट्र के मछुआरों ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी काबिना के सदस्यों से मुलाकात की और पाकिस्तान की जेलों में बंद भारतीय मछुआरों को रिहा करने के प्रभावकारी कदम उठाने का आग्रह किया।
   
इस दस सदस्यी प्रतिनिधिमंडल जिसमें मछुआरों के अलावा कांगे्रस के नेता, शंाति एवं लोकतंत्र के लिए पाकिस्तान-भारत पीपुल्स फोरम :पीआईपीएफपीडी: तथा नेशनल फिशरमैन फोरम के सदस्य शामिल थे, सिंह और कृषि मंत्री शरद पवार से कल तथा आज विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद से भेंट करके अपनी समस्याओं को रखा।
   
इस प्रतिनिधिमंडल में गुजरात से केन्द्रीय मंत्री ढींढसा जे पटेल और तुशार चौधरी और कांग्रेस के सांसद प्रभा किशोर तावियाद, अल्का बलराम क्षत्रिय, प्रवीण राष्ट्रपाल, जगदीश ठाकुर तथा कुंवरजीभाई मोहनभाई बवालिया शामिल भी शामिल थे।
   
मछुआरों का प्रतिनिधित्व करने वाले इस दल ने भारत-पाक न्याययिक समिति की च्च्कोई गिरफ्तारी नहीं की नीतिज्ज् को लागू करने और संयुक्त फिशिंग ज़ोन में दोनों ओर के मछुआरों को मछली पकडऩे का अधिकार देने का समझौता करने की मांग की।
   
यह मांग भी की गई कि मछुआरा समुदाय के प्रतिनिधियों का उच्च स्तरीय कार्य समूह गठित किया जाए और मछुआरों को पकडऩे तथा उनकी नौकाओं और जाल को जब्त करने पर रोक लगाई जाए। यह सुझाव भी दिया गया कि दोनों देशों के मछुआरों के प्रतिनिधियों को एक दूसरे के देश जाकर वहां बंद मछुआरों और उनकी नौकाओं की स्थिति का जायज़ा लेने की अनुमति दी जाए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You