दंगों को लेकर प्रकाश करात ने मुख्यमंत्री के समक्ष उठाए कर्इ सवाल

  • दंगों को लेकर प्रकाश करात ने मुख्यमंत्री के समक्ष उठाए कर्इ सवाल
You Are HereNational
Tuesday, December 24, 2013-2:41 PM

लखनऊ: माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) महासचिव प्रकाश करात ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिलकर मुजफ्फरनगर दंगों के पीडितों की बदतर हालत पर चिंता जताते हुए स्थिति को तत्काल दुरस्त करने की मांग की है। माकपा केन्द्रीय कमेटी  की सदस्य और पूर्व सांसद सुभाषिनी अली के साथ आज यहां यादव से मुलाकात कर करात ने कहा कि राहत शिविरों की हालत ठीक नहीं है उस पर तत्काल काम करने की जरूरत है।  राहत शिविरों में रह रहे लोग किसी तरह रात बिता रहे हैं। कई बच्चों के मरने की भी सूचना है।
 
उन्होंने बताया कि उन्होंने राज्य सरकार को इस सम्बन्ध में कुछ सुझाव भी दिए। दंगों को लेकर हो रही राजनीति पर उन्होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया और कहा कि निर्दोष लोगों के खिलाफ दर्ज रिपोर्ट वापस ली जानी चाहिए। करात ने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगों से मानवता सिहरी है। दंगे मानवता के खिलाफ होते हैं। ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए ताकि कोई दंगा करने या कराने की हिम्मत न कर सके। 
 
दूसरी ओर सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री और माकपा नेताओं के बीच हुई बैठक में तीसरे मोर्चे के गठन पर चर्चा हुई सूत्रों ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के बगैर मोर्चे के गठन के तौरतरीकों पर चर्चा हुई। हाल ही में वामपंथी मोर्चे ने दिल्ली में 'एन्टी कम्युनल फ्रंट.'की रैली की थी जिसमें समाजवादी पार्टी ने भी भाग लिया था। सपा की ओर से अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि तीसरे मोर्चे का गठन देश की आवश्यकता है। माना जा रहा है कि 'एन्टी कम्युनल फ्रंट' को और मजबूत करने पर भी चर्चा हुई।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You