सरकार गठन के लिए 'आप' को समर्थन से पीछे नहीं हटेगी कांग्रेस

  • सरकार गठन के लिए 'आप' को समर्थन से पीछे नहीं हटेगी कांग्रेस
You Are HereNational
Wednesday, December 25, 2013-3:37 PM

नर्इ दिल्ली: कांग्रेस ने आज स्पष्ट किया कि सरकार गठन के लिए आम आदमी पार्टी (आप) को समर्थन देने के निर्णय से वह पीछे नहीं हटेगी और साथ ही कहा कि उसने नयी पार्टी के घोषणापत्र को समर्थन दिया है। कांग्रेस प्रवक्ता संदीप दीक्षित ने यहां मीडिया से कहा, ‘‘हम आप के घोषणापत्र को कम से कम आने वाले समय में समर्थन दे रहे हैं या उपराज्यपाल से हमने जो कुछ भी वचनवद्धता जताई है उस पर पार्टी बनी रहेगी ।’’
 
यह स्वीकार करते हुए कि आप को समर्थन देने के सवाल पर पार्टी में अलग अलग राय है, दीक्षित ने कहा, ‘‘जर्नादन द्विवेदी (कांग्रेस महासचिव) ने कल रात स्पष्ट कर दिया था कि कोई पुनर्विचार नहीं है ।’’ कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि आप को समर्थन देने के सवाल पर पार्टी कार्यकर्ताओं के एक वर्ग में गुस्सा है । हमारे बहुत सारे कार्यकर्ता और नेता यह महसूस कर रहे हैं कि आप के नेताओं द्वारा सार्वजनिक रूप से की गई टिप्पणियों के बाद हमें समर्थन नहीं करना चाहिए था ।
 
इस सवाल पर कि शीला दीक्षित कह रही हैं कि समर्थन सशर्त है और कांग्रेस अपने समर्थन को वापस ले सकती है, कांग्रेस सांसद ने कहा कि दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने भी कहा है कि समर्थन सिर्फ उनके घोषणा पत्र पर है । दीक्षित ने आप के घोषणा पत्र पर और तीन महीने में दिल्ली में स्वर्ग बनाने के आप के वादे पर ‘‘पहले इंतजार करो और देखो’’ का रूख अपनाने की बात की ।

कांग्रेस सांसद ने कहा, ‘‘क्योंकि आप याद रखिए, हम विपक्ष भी हैं और विपक्ष के रूप में विपक्ष की भूमिका भी होती है । मैं बहुत ही स्पष्ट हूं कि विपक्ष की भूमिका विरोध करने की है और यह देखने की है कि सरकार क्या कर रही है और उसने वादे क्या किये थे । और हम अपनी पूरी क्षमता के साथ यह भूमिका निभाएंगे ।
 
कांग्रेस और आप के बीच विश्वास की कमी के बारे में पूछे जाने पर दीक्षित ने कहा कि हम एक दूसरे का विरोध करते हैं। आप कांग्रेस के खिलाफ हर किस्म के आरोप लगा रही हैं। आप ऐसी स्थिति में विश्वास के भाव की उम्मीद नहीं कर सकते । और इसलिए हमारे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने सपष्ट कर दिया कि हम आप को समर्थन नहीं कर रहे हैं बलिक उसके घोषणा पत्र को और उन्होंने जो कुछ भी वादे किये हैं उसे समर्थन कर रहे हैं। संदीप दीक्षित ने कहा, ‘‘आइये उन्हें वक्त दें और उन्हें अवसर दें। उन्होंने उन सब कामों, जिसकी उन्होंने बात की है, को करने के लिए दो से तीन महीने का समय मांगा है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You