छत्तीसगढ़ में AAP की नजर जनजाति बहुल सीटों पर

  • छत्तीसगढ़ में AAP की नजर जनजाति बहुल सीटों पर
You Are HereNational
Friday, December 27, 2013-11:32 AM

रायपुर: दिल्ली विधानसभा चुनाव में सफलता मिलने से उत्साहित आम आदमी पार्टी (आप) अब अन्य राज्यों में भी संभावनाएं तलाशने लगी है। छत्तीसगढ़ में आप की नजर जनजाति बहुल लोकसभा सीटों पर है। पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिण के सदस्य डॉ. देवेंद्र शर्मा ने इसी सिलसिले में बस्तर का दौरा किया है। बस्तर नक्सलवाद प्रभावित और संवेदनशील क्षेत्र होने की वजह से डॉ. शर्मा के दौरे को गोपनीय रखा गया था।

 

भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ फेंकने, महंगाई को नियंत्रित करने जैसे आम लोगों के महत्वपूर्ण मुद्दों पर चुनाव लड़कर दिल्ली में सरकार बनाने जा रही आम आदमी पार्टी अपने अभियान को सिर्फ मेट्रो सिटी तक ही सीमित रखना नहीं चाहती। यही वजह है कि पार्टी छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति बहुल क्षेत्रों में अपनी पकड़ मजबूत करना चाहती है।

 

आप के सदस्य डॉ. शर्मा अपने एक अन्य सहयोगी के साथ 20 दिसंबर को कांकेर, कोंडागांव, जगदलपुर, बीजापुर, दंतेवाड़ा व कोंटा विधानसभा क्षेत्रों के कुछ इलाकों का दौरा किया था। उनके इस गोपनीय दौरे की सूचना उनके लौट जाने के बाद दी गई है। बताया गया है कि डॉ. शर्मा ने जनता की समस्याएं सुनीं। साथ ही बस्तर की भौगोलिक और सामाजिक परिस्थितियां का भी जायजा लिया। ज्ञातव्य है कि बस्तर क्षेत्र में बस्तर व कांकेर दो जनजातीय लोकसभा सीटें आती हैं।

 

बस्तर क्षेत्र की राजनीतिक परिस्थितियां, नक्सलवाद की समस्या, क्षेत्र के विकास, आदिवासियों की आबादी, उनकी सामाजिक-आर्थिक स्थिति का आकलन करना निस्संदेह आम आदमी पार्टी का आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस व भाजपा को सीधे चुनौती देने जैसा है। सूत्रों के अनुसार, शर्मा ने यह भी बताया कि पार्टी छत्तीसगढ़ में कुछ सीटों पर चुनाव लड़ सकती है लेकिन निर्णय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लिया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You