नर्सरी एडमिशन : बदला दूरी का पैमाना

  • नर्सरी एडमिशन : बदला दूरी का पैमाना
You Are HereNational
Saturday, December 28, 2013-12:10 AM

नई दिल्ली : प्राइवेट स्कूलों में नर्सरी एडमिशन के लिए नेबरहुड का दायरा बढ़ा कर छह से आठ किलोमीटर कर दिया गया है। शिक्षा निदेशालय के इस फैसले से प्राइवेट स्कूल और अभिभावकों में खुशी की लहर है। दोनो ही इस फैसले से काफी खुश है।

निजी स्कूलों एवं अभिभावकों की चिताओं पर विचार के बाद अब नर्सरी दाखिलों के लिये नेबरहुड का दायरा छ: से आठ किलोमीटर कर दिया दिया गया है। नेबरहुड का दायरा बढने से अब ज्यादा बच्चों को इस का फायदा मिल सकेगा।

पहले नेबरहुड का दायरा जीरो से छ किलोमीटर तक था जिसके लिये 70 अंक निर्धारित किये गये थे। लेकिन राजधानी के कुछ इलाकों में छ किलोमीटर के दायरे के अंदर अच्छे स्कूल न होने के कारण वहां रहने वाले बच्चों के दाखिले के कम चांस थे। ऐसे में एक बडा तबका नर्सरी दाखिलों से वंचित हो रहा था।

नर्सरी दाखिलों के अन्र्तगत ज्यादा से ज्यादा बच्चों का दाखिला सुनिश्चित करने के उददेश्य से निजी स्कूलों एवं अभिभावकों ने इसके खिलाफ आपत्ति जतायी थी। इस संबंध में निजी स्कूलों एवं अभिभावकों ने उपराज्यपाल एवं शिक्षा निदेशक को भी पत्र लिखा था। जिसके पश्चात शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों ने उपराज्यपाल से बातचीत कर यह निर्णय लिया।

इस पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नत्थूपूरा निवासी पूरण चंद ने बताया कि शिक्षा निदेशालय का यह निर्णय आम लोगों के हित में है। नेशनल प्रोग्रेसिव स्कूल कांन्फ्रेंस की चेयरमैेन एम अमिता वटटल ने बताया कि छात्रों के हित में लिये गये इस निर्णय का हम स्वागत करते है।

नेबरहुड का दायरा बढने से अब ज्यादा बच्चों के दाखिले सुनिश्चत हो पायेंगे। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा उठाये गये अन्य मुददों पर भी जल्द कोई निर्णय लिया जायेगा।

दूसरी तरफ ऑल इंडिया पेरेंटस एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने कहा कि यह फैसला स्वागत योग्य है। नर्सरी दाखिला प्रकिया में ज्यादा बच्चे शामिल हो हमारी भी यही इच्छा है। नेबरहुड का दायरा बढने से अब ज्यादा बच्चे दाखिलों के लिए आवेदन कर पायेंगे।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You