‘मुजफ्फरनगर राहत शिविरों में शरणार्थियों की हालत चिंताजनक’

  • ‘मुजफ्फरनगर राहत शिविरों में शरणार्थियों की हालत चिंताजनक’
You Are HereNational
Wednesday, January 01, 2014-9:46 AM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में हुई हिंसा के बाद पहली बार वहां के राहत शिविरों के दौरा पर निकले बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के प्रतिनिधिमंडल ने वहां रह रहे लोगों की हालत पर काफी चिंता जताई है। बसपा का प्रतिनिधिमंडल बुधवार को पूरे दिन राहत शिविरों का दौरा करेगा। बसपा के प्रदेश अध्यक्ष रामअचल राजभर ने आईएएनएस से बातचीत के दौरान राहत शिविरों में रह रहे लोगों की हालत पर काफी चिंता जताई। राजभर ने कहा कि अभी तक प्रतिनिधिमंडल ने दो शिविरों का दौरा किया है, लेकिन जो स्थिति सामने आई है, वह काफी भयावह है।

राजभर ने कहा, ‘‘अभी तक हम दो राहत शिविरों-कांकड़ा और सहजन-का दौरा कर चुके हैं। यहां से शाहपुर के लिए निकल चुके हैं, लेकिन राहत शिविरों में रह रहे लोगों की हालत देख कर काफी दुख हुआ।’’ उन्होंने कहा कि शिविरों में रह रहे लोगों को जाड़े के समय पर्याप्त सामान मुहैया कराने की बजाए सरकार उनके खिलाफ  ही आरोप लगा रही है। लोगों की हालत काफी दयनीय है। लोगों के पास दैनिक उपयोग का सामान भी नहीं है, जिससे हालत और चिंताजनक बनी हुई है।

राजभर ने बताया कि सरकार सूबे में कानून व्यवस्था के मुद्दे पर पूरी तरह से असफल साबित हुई है और अब राहत शिविरों में जो बदइंतजामी का माहौल दिख रहा है, वह भी सरकार के मुंह पर करारा तमाचा है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, ‘‘मायावती पहले ही राज्य सरकार को बर्खास्त करने की मांग कर चुकी हैं। यह सरकार शासन करने लायक नहीं है। लोगों की जरूरत पूरी करने के बजाए उन पर राजनीति की जा रही है और उन्हें षडय़ंत्रकारी बताया जा रहा है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’’

उल्लेखनीय है राहत शिविरों का दौरा करने निकले बसपा के प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश अध्यक्ष राजभर के अलावा राष्ट्रीय महासचिव और विधानसभा में विपक्ष के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य, नसीमुददीन सिद्दिकी और सांसद मुनकाद अली सहित कई अन्य वरिष्ठ नेता भी शामिल हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You