समलैंगिकता पर कुछ केंद्रीय मंत्रियों के बयानों से SC नाराज

  • समलैंगिकता पर कुछ केंद्रीय मंत्रियों के बयानों से SC नाराज
You Are HereNational
Friday, January 03, 2014-10:00 AM

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने समलैंगिक संबंधों को लेकर उसके निर्णय पर कुछ केंद्रीय मंत्रियों और राजनेताओं के बयानों पर आज कडी नाराजगी जतायी।  मुख्य न्यायाधीश पी. सदाशिवम की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने हालांकि न्यायालय के फैसले के विरूद्ध बयान देने वाले मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई की याचिका खारिज कर दी लेकिन उन्हें चेतावनी दी कि वे भविष्य में ऐसे बयान देने के प्रति सावधानी बरतें। उन्होंने कहा कि मंत्रियों के बयान उचित नहीं थे। 

न्यायमूॢत जी. एस. सिंघवी और न्यायमूॢत एस.जे. मुखोपाध्यायकी सदस्यता वाली खंडपीठ ने गत दिसंबर में अपने एक फैसले में समलैंगिकता को अपराध करार दिया था।  गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी. केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम और कानून मंत्री कपिल सिब्बल ने उच्चतम न्यायालय के इस फैसले की आलोचना की थी। केंद्र सरकार और नाज फाउंडेशन ने न्यायालय के आदेश की समीक्षा के लिये पहले ही याचिका दायर कर रखी है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You