सफाई के मुद्दे पर प्राइवेट कंपनियों पर कसी नकेल

  • सफाई के मुद्दे पर प्राइवेट कंपनियों पर कसी नकेल
You Are HereNcr
Tuesday, January 07, 2014-3:00 PM

नई दिल्ली (सज्जन चौधरी): उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने प्राइवेट कंपनियों से सफाई का काम वापस लेना शुरू कर दिया है। निगम के 6 में से 5 जोन में सफाई का काम प्राइवेट कपंनियों द्वारा किया जाता है। सिर्फ नरेला जोन की सफाई का काम उत्तरी दिल्ली नगर निगम के कर्मचारियों के पास है। निगम के अंतर्गत आने वाले ज्यादातर इलाकों में सफाई व्यवस्था को लेकर काफी शिकायतें मिल रही थीं, जिन्हें देखते हुए निगम आयुक्त ने सभी जोनल उपायुक्तों को सड़कों पर उतरकर काम करने के निर्देश दिए हैं।

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के 5 जोनों में प्राइवेट कंपनी द्वारा सड़कों की सफाई, शौचालयों की सफाई से लेकर ढलाव घरों से कूड़ा उठाने का काम किया जाता है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम की 180 किलोमीटर की सड़कों में से 100 किलोमीटर सड़कों की सफाई प्राइवेट कंपनी द्वारा की जाती है। बाकी 80 किलोमीटर सड़कों की सफाई का जिम्मा निगम ने वापस ले लिया है। सफाई व्यवस्था को लेकर निजी कंपनियों पर पहले भी लाखों रुपए का जुर्माना लगाया जा चुका है।

उत्तरी दिल्ली नगर निगम आयुक्त पी.के. गुप्ता ने सभी जोन के उपायुक्तों को आदेश दिए हैं कि वे रोजाना इलाके में जाकर सफाई व्यवस्था का दौरा करेंगे और प्राइवेट कंपनियों के काम का ब्यौरा नोट करेंगे। अगर सफाई व्यवस्था में कमी पाई जाती है तो तुरंत कार्रवाई की जाएगी। निगम आयुक्त पी.के. गुप्ता ने बताया कि निगम के पास सफाईकर्मियों की अच्छी खासी फौज है, जल्द ही सफाई का पूरा काम निगम द्वारा देखा जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You