मप्र में आबकारी नीति पर होगा पुनर्विचार: शिवराज

  • मप्र में आबकारी नीति पर होगा पुनर्विचार: शिवराज
You Are HereNational
Wednesday, January 08, 2014-1:50 PM

भोपाल: मध्यप्रदेश की आबकारी नीति में किए गए संशोधन के तहत देसी शराब की दुकान में ही विदेशी शराब बेचने के फैसले के खिलाफ  सरकार से लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में उठे विरोध के स्वर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बैकफुट पर आना पड़ा है। उन्होंने मंत्रिमंडल के फैसले पर पुनर्विचार करने का ऐलान किया है। राज्य सरकार के मंत्रिमंडल ने सोमवार को गांव की देसी शराब दुकानों पर विदेशी मदिरा बेचने का फैसला लिया था।

 

इसको लेकर तीन प्रमुख मंत्रियों बाबूलाल गौर, गोपाल भार्गव व गौरीशंकर शेजवार ने मंत्रिमंडल की बैठक में ही फैसले का विरोध करते हुए कई सवाल खड़े किए थे। वहीं संगठन से भी विरोध के स्वर उठे थे। सरकार के फैसले के विवादित होने पर मुख्यमंत्री चौहान ने ऐलान किया है कि वह इस फैसले पर पुनर्विचार करेंगे। संवाददाताओं से चर्चा करते हुए चौहान ने बुधवार को कहा कि देसी शराब दुकानों पर विदेशी शराब बेचने के फैसले पर किसी के कुछ कहने का सवाल नहीं उठता, यह फैसला सर्वसम्मति से लिया गया था।

 

इस फैसले का मकसद विदेशी शराब की बिक्री को प्रोत्साहित करना नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि यह फैसला दिमाग से लिया गया था, जो ठीक लगा था लेकिन पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर से चर्चा करने के बाद उन्होंने यह खुद महसूस किया है कि अब वह दिमाग की नहीं बल्कि दिल की सुनेंगे और फैसले पर पुनर्विचार करेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You