राजस्व का बोझ तो बढ़ेगा लेकिन काम का स्तर भी हो जाएगा बेहतर

  • राजस्व का बोझ तो बढ़ेगा लेकिन काम का स्तर भी हो जाएगा बेहतर
You Are HereNational
Friday, January 10, 2014-4:05 PM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): राजधानी के अनेक विभागों में वर्षों से काम कर रहे अस्थाई कर्मचारियों स्थाई करने का सब्जबाग दिखाकर आम आदमी पार्टी सत्ता में तो आ गई, लेकिन अब यही वादे सरकार पर भारी पड़ रहे हैं। आप की सरकार लोगों को मुफ्त पानी सस्ती बिजली उपलब्ध कराने के वादों को तो निभा चुकी है, लेकिन अभी तक इन हजारों अस्थाई कर्मचारियों को स्थाई करने के बारे में जिक्र तक नहीं किया है।

इससे नाराज अनेक विभागों के अस्थाई कर्मचारियों का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कौशांबी स्थित घर से लेकर दिल्ली सचिवालय पर प्रदर्शन जारी है। ऐसे में यदि सरकार अपने वादों को पूरा नहीं करती है तो आगामी चुनाव काफी चुनौतीपूर्ण होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। वहीं, अर्थशास्त्र के जानकारों का कहना है कि यदि दिल्ली सरकार इन अस्थाई कर्मचारियों को स्थाई करती है तो दिल्ली के कुल बजट का 22-24 प्रतिशत हिस्सा सिर्फ वेतन व इन्हें मिलने वाली आवास, चिकित्सा, यूनिफार्म तथा यात्रा भत्ता समेत अनेक सुविधाओं पर खर्च हो जाएगा।

जबकि दिल्ली में मुफ्त पानी देकर 40 करोड़ तथा बिजली सस्ती कर 60 करोड़ रुपए प्रतिमाह का अतिरिक्त बोझ पहले से उठा चुकी है। ऐसे में इनकी मांगें पूरी करने की राह इतनी आसान नहीं है। दिल्ली सरकार का कुल वार्षिक बजट 30 हजार करोड़ रुपए का है। जानकारों का यह भी कहना है कि उनकी अस्थाई कर्मचारियों को स्थाई किए जाने से विभागों में कार्यप्रणाली में काफी सुधार होगा। क्योंकि  सही वेतन मिलने पर वह मन लगाकर काम करेंगे, जिसके परिणाम में बेहतर होंगे।

दिल्ली परिवहन मजबूर संघ के प्रवक्ता कैलाशचंद कहते हैं कि अभी डीटीसी के अस्थाई ड्राइवर को 4 रुपए प्रति किलोमीटर के हिसाब से वेतन मिलता है। वहीं कंडक्टर का वेतन 10 हजार रुपए प्रतिमाह तय है। जबकि स्थाई ड्राइवर, कंडक्टर को 22-25 हजार तक वेतन मिलता है। वहीं, दिल्ली जलबोर्ड कर्मचारी यूनियन के तरसपाल तोमर कहते हैं कि विभाग के स्थाई कर्मचारी आराम करते हैं और अस्थाई कर्मचारियों पर रोब दिखाते हैं। जबकि उन्हें कम वेतन मिलता है और वह बेहतर काम भी जानते हैं, लेकिन नौकरी जाने के डर से सहमे हुए रहते हैं। हम लगातार सरकार से स्थाई करने की मांग कर रहे हैं।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You