हर 4 मिनट में एक व्यक्ति होता है दुर्घटना का शिकार

  • हर 4 मिनट में एक व्यक्ति होता है दुर्घटना का शिकार
You Are HereNcr
Sunday, January 12, 2014-3:27 PM

नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): देश में हर साल सवा लाख से अधिक लोग सड़क हादसों का शिकार हो जाते हैं। हालात यह हैं कि हर एक मिनट में हादसा होता है और हर चौथे मिनट में एक आदमी सड़क हादसे में मारा जाता है। दुर्घटनाओं में घायल होने वालों की संख्या तो लाखों में है। अकेले राजधानी में ही हर दिन 4 लोग सड़क दुर्घटना में मौत के शिकार हो जाते हैं।

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री ऑस्कर फर्नांडीज का कहना है कि सड़क हादसों को रोकने के लिए जागरूकता सबसे जरूरी है। शनिवार से देशभर में रोड सेफ्टी वीक आयोजित किया गया है। इसमें जनता को जागरूक करने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। देश में सड़क दुर्घटनाओं के 3 साल के आंकड़ों को देखें तो बहुत भयानक तस्वीर उभरकर सामने आती है। घायलों की संख्या तो हर साल 5 लाख से अधिक रहती है। इनमें से बहुत से लोग जिंदगी भर के लिए विकलांग हो जाते हैं।

नवोदय टाइम्स ने रोड सेफ्टी वीक को लेकर केंद्रीय मंत्री आस्कर फर्नांडीज से खास बातचीत की। इस दौरान उन्होंने बताया कि सड़क हादसों को रोकने के लिए सरकार एक नैशनल रोड सेफ्टी पॉलिसी बना रही है। इस पॉलिसी में जागरूकता सबसे अहम स्थान रखती है। इसके साथ ही नैशनल रोड सेफ्टी काऊंसिल भी बनाई जा रही है। सरकार ने राज्यों से भी आग्रह किया है कि वह अपने यहां पर स्टेट रोड सेफ्टी काउंसिल व ड्रिस्टिक रोड सेफ्टी कमेटी बनाएं। उन्होंने बताया कि सरकार ने साइकिल चालकों को हादसों से बचाने के लिए खासतौर पर रिफ्लैक्टर लगाने के निर्देश दिए गए हैं। जागरूकता के इस मिशन में तमाम लोगों की मदद ली जा रही है।

सड़क परिवहन मंत्रालय के मुताबिक हादसों को रोकने के लिए 4 ई पर काम किया जा रहा है। इसमेंएजुकेशन, इनफोर्समैंट, इंजीनियरिंग व इमरजैंसी केयर शामिल हैं। ड्राइविंग की ट्रेनिंग के लिए और अधिक संस्थान भी बनाए जाएंगे। सरकार ने इसके लिए अक्तूबर 2013 में चीन सरकार के साथ एक एम.ओ.यू. भी किया है। इसके तहत सड़कों को सुरक्षित करने के लिए योजनाओं व इससे जुड़ी अन्य सूचनाओं को साझा किया जाएगा। इंंटेलीजेंट ट्रांसपोर्ट सिस्टम पर काम होगा। दिल्ली में  पिछले 10 सालों के आंकड़ों में वर्ष 2013 में सबसे कम लोग दुर्घटनाओं के शिकार हुए हैं।

पुलिस ने नियमों को तोडऩे वालों पर सख्ती, खासतौर पर ओवर स्पीड व शराब पीकर वाहन चलाने वालों के खिलाफ लगातार सक्रिय अभियान चलाए हैं। सड़क हादसों के लिए पहचाने गए ब्लॉक स्पॉट पर भी काम किया गया है। अगर जागरूकता की बात करें तो पूरे साल पर बड़ी-बड़ी हस्तियों को बुलाकर लोगों को जागरूक  कराया गया है। शराब पीकर वाहन चलाने वाले 24564 लोगों पर एक्शन हुआ है।
-ताज हसन, स्पेशल कमिश्नर, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You