बांटने वाली ताकतों से सतर्क रहें: मनमोहन

  • बांटने वाली ताकतों से सतर्क रहें: मनमोहन
You Are HereNational
Monday, January 13, 2014-2:32 PM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने देश की धार्मिक, भाषायी और सांस्कृतिक विविधता के आधार पर लोगों को बांटने वाली ताकतों पर नजर रखने का आह्वान करते हुए कहा है कि हमें ऐसे लोगों के विरद्ध सतर्कता बरतने की जरुरत है जो धर्मनिरपेक्षता को पुर्नपरिभाषित करने का प्रयास कर रहे हैं। सिंह ने आज यहां राज्य अल्पसंख्यक आयोगों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि हमारी एकता ही हमारी ताकत है तथा धर्मनिरपेक्षता सदियों से हमारे देश की जीवन शैली रही है।

हमें ऐसेलोगों से सतर्क रहना है जो भारत की धर्मनिरपेक्ष विचारधारा के विरूद्ध काम करते हैं या धर्मनिरपेक्षता को पुर्नपरिभाषित करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक सद्भाव कायम रखने के लिए जरूरी है कि बहुसंख्यक और अल्पसंख्यक दोनों समुदाय मिलकर काम करें।

देश के अधिकतर हिस्सों में दोनों समुदायों के बीच संबंध सद्भावपूर्ण रहे हैं यद्यपि कई बार ऐसे मौके भी आए हैं जब दोनों समुदायों के संबंधों को कड़ी परीक्षा से गुजरना पड़ा है। उन्होंने कहा कि दोनों के संबंधों में बिगड़ाव की कभी कभार होने वाली घटनाओं से देश की छवि खराब होती है तथा पीडित व्यक्यिों को कष्ट सहना पड़ता है तथा इससे विकास भी प्रभावित होता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You