पैरेंट्स से नहीं पूछ सकते आय

  • पैरेंट्स से नहीं पूछ सकते आय
You Are HereNational
Monday, January 13, 2014-2:59 PM

नई दिल्ली (रोहित राय): शैक्षणिक सत्र 2014-15 के लिए शुरू होने वाली नर्सरी दाखिला प्रक्रिया के दौरान आवेदन फॉर्म में स्कूल प्रबंधन अभिभावकों की आय नहीं पूछ सकते। शिक्षा निदेशालय के दिशा-निर्देशों के मुताबिक आय पूछना दिशा-निर्देशों का उल्लंघन माना जाएगा।  जो भी स्कूल फॉर्म में अभिभावकों की आय पूछेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा स्कूल प्रबंधन दाखिला देने से पहले बच्चों का साक्षात्कार भी नहीं ले सकेंगे।

पिछले कुछ सालों में नर्सरी दाखिले के दौरान अक्सर अभिभावकों की ओर से इस तरह की शिकायतें सुनने को मिली थी कि स्कूल, अभिभावकों से उनका पेशा और आय की जानकारी मांग रहे हैं। अभिभावकों की आय पूछने के पीछे स्कूलों का मकसद अभिभावकों की आर्थिक स्थिति की जानकारी प्राप्त करना होता है। नर्सरी दाखिले के लिए बनाए गए नए दिशा-निर्देशों के मुताबिक स्कूल प्रबंधन सिर्फ आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ई.डब्ल्यू.एस.) कोटे के अभिभावकों की ही आय पूछने के हकदार हैं।

सालाना एक लाख रुपए और उससे कम आय वाले अभिभावकों को ही ई.डब्ल्यू.एस. कोटे के तहत माना जाता है और उनके बच्चों के लिए स्कूलों में नर्सरी कक्षा में 25 फीसदी सीटें आरक्षित रखी गई हैं। अगर कोई स्कूल सामान्य कोटे के अभिभावकों से फॉर्म में उनकी आय की जानकारी मांगता है तो अभिभावक स्कूल के खिलाफ शिक्षा निदेशालय, क्षेत्रीय उपनिदेशक शिक्षा के कार्यालय, दिल्ली सरकार में शिक्षा मंत्री के कार्यालय में बनाई जाने वाली हैल्पलाइन पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। शिकायत मिलने पर अधिकारी स्कूल के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगेे।

नए दिशा-निर्देशों के अनुसार इस साल नर्सरी कक्षा में 65 प्रतिशत सीटों पर सामान्य कोटे के बच्चों को दाखिला दिया जाएगा। इससे पहले नर्सरी में स्कूल मैनेजमैंट कोटे की 20 फीसदी सीटों पर सामान्य कोटे के अभिभावकों को दाखिला नहीं दिया जाता था, जिसके कारण सामान्य कोटे के अभिभावकों के लिए महज 45 प्रतिशत सीटें की बचती थी।

दिल्ली में छोटे-बड़े करीब दो हजार निजी स्कूल हैं जिनमें नर्सरी कक्षा में लगभग 2 लाख सीटें हैं। दिशा-निर्देशों के मुताबिक इस साल स्कूलों को एक ही तिथि पर अपनी दाखिला सूची जारी करनी होगी। साथ ही जिस बच्चे को दाखिला नहीं दिया जाएगा उसे दाखिला क्यों नहीं दिया गया इसकी लिखित जानकारी स्कूल के नोटिस बोर्ड पर लिखनी होगी। नर्सरी दाखिला प्रक्रिया 15 जनवरी से शुरू हो रही है और 31 जनवरी तक फॉर्म खरीदकर अभिभावक उन्हें स्कूलों में जमा करा सकेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You