अब ट्रेन में महिलाओं से हो रही छेड़छाड़ को रोकेगा ‘निर्भया कार्ड’

  • अब ट्रेन में महिलाओं से हो रही छेड़छाड़ को रोकेगा ‘निर्भया कार्ड’
You Are HereNational
Tuesday, January 14, 2014-1:30 PM
कानपुर: ट्रेनों में अकेली महिलाओं से छेड़छाड़ की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए और इस तरह की घटना पर तुरंत सहायता पहुंचाने के लिए सभी महिला हेल्पलाइन नंबरों वाला ‘निर्भया कार्ड’ उत्तर मध्य रेलवे ने महिला रेल यात्रियों के लिए जारी किया है।  
 
कानपुर सेन्ट्रल रेलवे स्टेशन पर जीआरपी के सर्किल आफिसर डीएसपी सुरेन्द्र तिवारी ने आज एक न्यूज एजेंसी को बताया कि ‘आप की हिम्मत लोगों के लिए सबक’ स्लोगन लिखे उत्तर मध्य रेलवे द्वारा जारी किए गए इस निर्भया कार्ड को ट्रेनों में महिलाओं को निशुल्क दिया जा रहा है। 
 
इस कार्ड में रेलवे की महिला हेल्प लाइन का नंबर 18001805315 तथा प्रदेश की महिला हेल्पलाइन का नंबर 1090 दर्ज है। इसके अलावा जीआरपी पुलिस कंट्रोल रूम का नंबर, जीआरपी लखनऊ का कंट्रोल रूम नंबर, और उत्तर मध्य रेलवे के अन्तर्गत पडऩे वाले सभी सात पुलिस स्टेशनों के टेलीफोन नंबर भी दर्ज है। उन्होंने बताया कि चूंकि यह कार्ड एटीएम या पैन कार्ड की तरह छोटा है इसलिए इसे महिलाए अपने पर्स में आसानी से रख सकती हैं।
 
जीआरपी के डीएसपी तिवारी ने बताया हेल्पलाइन पर किसी भी महिला की शिकायत आने पर अगले स्टेशन पर जीआरपी की टीम उस कोच में पहुंच कर महिला के साथ छेड़छाड़ या बदतमीजी करने वाले को पकड़ लेगी। यही नही अगर चलती ट्रेन में महिला के साथ कोई बदतमीजी होती है तो ट्रेन में मौजूद जीआरपी के पुलिसकर्मियों को जानकारी देकर ट्रेन में महिला के कोच में तुरंत पुलिस पहुंच जाएगी। 
 
महिला यात्रियों में इस कार्ड को लेकर काफी उत्सुकता है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में निर्भया गैंग रेप कांड के कारण इस कार्ड का नाम निर्भया कार्ड रखा गया है ताकि सभी महिला यात्री उस बहादुर लड़की से प्रेरणा लें और किसी भी ज्यादती के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करने में संकोच नहीं करें। इसलिए कार्ड का लोगो ‘‘आप की हिम्मत लोगो के लिए सबक’’ रखा गया है। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You