2 घंटे में ही फुल हो गई पूर्वोत्तर की ट्रेनें

  • 2 घंटे में ही फुल हो गई पूर्वोत्तर की ट्रेनें
You Are HereNcr
Wednesday, January 15, 2014-2:55 PM

नई दिल्ली (सुनील पाण्डेय) : जिन लोगों ने होली के त्यौहार पर घर जाने के लिए मंगलवार को टिकटें बुक नहीं करवाई है उनका अपनों के साथ रंग खेलने की हसरत पूरी नहीं होने वाली है। दरअसल पूर्वोत्तर की ओर जाने वाली लगभग सभी ट्रेनें 15 मार्च तक पूरी तरह से फुल हो गई है। वेटिंग लिस्ट भी 35 से ऊपर पहुंच चुका है। इस बार होली का त्यौहार 17 मार्च को पड़ा है। बिहार की ओर जाने वाले लोग अगर 15 मार्च को यहां से रवाना होंगे तभी वे लोग होली के त्यौहार में शामिल हो सकेंगे।

नियमों के अनुसार यात्रा से 60 दिन पहले यात्री टिकट आरक्षित करवा सकतें हंै। इसी के तहत जब मंगलवार को 15 मार्च के लिए आरक्षण शुरू हुआ तो घंटे भर के अंदर ही सभी टिकटें बुक हो गई। जो लोग 10 बजे के बाद आरक्षण केन्द्र पर टिकट के लिए पहुंचे उन्हें निराशा ही हाथ लगी क्योंकि तब तक अधिकतर ट्रेनों में प्रतिक्षा सूची 100 से ऊपर पहुंच चुका था।

दोपहर तक तो अधिकतर ट्रेनों में प्रतिक्षा सूची 35 से ऊपर पहुंच चुके था। ट्रेनों में यह मारामारी पूर्वोत्तर की ओर जाने वाली ट्रेनों में ही है। नई दिल्ली से दरभंगा तक जाने वाली बिहार संपर्क क्रांति (12566), बरौनी तक जाने वाली बैशाली एक्सप्रैस (12554), अमृतसर से सहरसा के बीच चलने वाली गरीब रथ (12204), आदर्श नगर से सहरसा के बीच चलने वाली पूरविया एक्सप्रैस (15280), आनंद विहार से सीतामढ़ी के बीच चलने वाली लिच्छवी एक्सप्रैस, आनंद विहार से भागलपुर के बीच चलने वाली विक्रमशीला (12368), नई दिल्ली से राजगीर के बीच चलने वाली श्रमजीवी (12392), दिल्ली से डिब्रूगढ़ के बीच चलने वाली ब्रह्मपुत्र  आदि ट्रेनों में 13, 14 और 15 मार्च में एक भी सीट खाली नहीं है।

इन ट्रेनों में प्रतिक्षा सूची भी नो रूम के करीब पहुंच चुका है। सबसे बुरी स्थिति बिहार संपर्क क्रांति, वैशाली, गरीब रथ, पूरविया आदि ट्रेनों में मंगलवार को की प्रतिक्षा सूची 35 से ऊपर पहुंच गया। नई दिल्ली से इलाहाबाद की ओर भी जाने वाली सभी रेलगाडिय़ां फुल हो चुकी है। नई दिल्ली से इलाहाबाद के बीच चलने वाली प्रयागराज एक्सप्रैस में वेटिंग है।

यही हाल महाबोधि एक्सपै्रस, पुरुषोत्तम एक्सप्रैस, शिवगंगा एक्सप्रैस, ब्रह्मपुत्र मेल, रीवांचल एक्सप्रैस सहित सभी ट्रेनों का एक जैसा हाल है। नई दिल्ली से लखनऊ जाने वाली प्रमुख ट्रेनों का भी यही हाल है। लखनऊ मेल में तो होली केे 2 दिन पूर्व 150 से ज्यादा वेटिंग अभी है। जबकि, संपर्क क्रांति में 355 एवं 372 वेटिंग चल रहा है। गोरखधाम एक्सप्रैस में 180 के पार, शहीद एक्सप्रैस 88 एवं श्रमजीवी एक्सप्रैस में 197।

लेने गए थे कंफर्म, हाथ लगा वेटिंग टिकट : गोरखपुर निवासी अमित कुमार होली पर घर जाने के लिए पूरे परिवार का टिकट लेने नई दिल्ली स्टेशन आज इस उम्मीद से पहुंचे थे, कि कंफर्म टिकट मिल जाएगा लेकिन जब उनका नंबर आया तो हाथ में आया वेटिंग टिकट। चूंकि घर जाना ही है, इसलिए मजबूरी में ही सही वेटिंग के टिकट पर संतोष करना पड़ा। इसी तरह लिच्छवी एक्सप्रैस का टिकट लेने नई दिल्ली पहुंची वंदना झा का दर्द था। उनके मुताबिक हर बार वह शुुरूआत में ही टिकट आरक्षित करवा लेती थी लेकिन आज उन्हें कंफर्म की जगह वेटिंग का टिकट मिला। इलाहाबाद निवासी राजीव शुक्ला एवं लखनऊ निवासी मोहिता शाही को भी आज परिवार के साथ होली खेलने के लिए घर जाने के लिए रेल का टिकट नहीं मिला।

 होली स्पैशल ही एकमात्र सहारा :  होली का त्यौहार परिवार के साथ मनाने वालों को अब होली स्पैशल रेलगाडिय़ां ही एकमात्र सहारा बची हैं। उत्तर रेलवे होली के एक सप्ताह पहले यू.पी., बिहार सहित पूर्वोत्तर की ओर जाने वाले लोगों के लिए विशेष ट्रेन हर वर्ष चलाती है। इस बार भी रेलवे चलाएगा। इसकी घोषणा तो अभी नहीं हुई है लेकिन यह ट्रेनें हजारों मुसाफिरों के लिए खास होती हैं। उत्तर रेलवे के प्रवक्ता अमर सिंह नेगी की माने तो हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी रेलवे कई रूटों पर होली स्पैशल ट्रेन चलाएगा। बहुत जल्द सभी ट्रेनों की सूचना सार्वजनिक कर दी जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You