मप्र सरकार दलगत राजनीति से ऊपर उठकर काम करेगी: शिवराज

  • मप्र सरकार दलगत राजनीति से ऊपर उठकर काम करेगी: शिवराज
You Are HereNational
Wednesday, January 15, 2014-4:05 PM

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज राज्य विधान सभा में दलगत राजनीति से उठकर काम करने का आश्वासन देते हुए कहा कि आगामी नर्मदा जयंती तक नर्मदा का पानी क्षिप्रा में मिलाने का काम पूरा हो जाएगा। चौहान ने सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर कृतज्ञता ज्ञापन प्रस्ताव पर हुई चर्चा का उत्तर देते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नदी जोड़ों अभियान के तहत नर्मदा का पानी आगामी नर्मदा जयंती तक क्षिप्रा में मिलाने का काम पूरा हो जाएगा।

 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा राज्य सरकार गंभीर, कालीसिंध और पार्वती को भी आपस में जोडऩे का काम हाथ में लेगी, जिससे प्रदेश के तीन हजार गांव और 72 शहरों को पीने का पानी मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि दलगत राजनीति से ऊपर उठकर विपक्ष के जो भी रचनात्मक सुझाव आएंगे उन पर अमल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पिछले दस सालों में सरकार ने जनता की भलाई के लिए अनेक काम किये हैं और यही कारण है कि जनता ने लगातार तीसरी बार हमें प्रदेश की बागडोर सौंपी है क्योंकि जनता केवल बातों के आधार पर अपना समर्थन नहीं देती।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि दस साल पहले हमें बीमारु राज्य विरासत में मिला था लेकिन लगातार मेहनत के बल पर पिछले सात साल में प्रदेश की विकास दर लगातार दस प्रतिशत से उपर बनी रही जबकि देश की विकास दर पांच प्रतिशत के आसपास है। कृषि उत्पादन का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अनाज उत्पादन के मामले में मध्यप्रदेश ने हरियाणा को भी पीछे छोड़ दिया है और पंजाब के बाद कृषि उत्पादन में मध्यप्रदेश का नंबर दूसरे स्थान पर आ गया है।

 

उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष केन्द्र सरकार द्वारा मप्र को कृषि कर्मण पुरस्कार दिया गया था तथा इस साल भी प्रदेश को कृषि कर्मण पुरस्कार के लिए चुना गया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2003 में जहां साढ़े सात लाख हैक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होती थी वहीं अब 25 लाख हैक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो रही है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में खेत सडक योजना के बाद अब खेत तीर्थ दर्शन योजना बनाई जाएगी जिसके तहत विशषज्ञों की सहायता से आदर्श खेत तैयार किए जाएगे ताकि अन्य किसान भी इन खेतों से प्ररेणा लेकर अपने खेतों में उत्पादन बढ़ा सकें।

 

उद्योग एवं रोजगार की चर्चा करते हुए चौहान ने कहा कि प्रदेश में नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिये लघु एवं कुटीर उद्योगों का जाल बिछाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि प्रदेश के नौजवान रोजगार मांगने वाले नहीं बल्कि रोजगार देने वाले बने। मुख्यमंत्री के जवाब के बाद सदन ने कृतज्ञता ज्ञापन प्रस्ताव ध्वनिमत से पारित कर दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You