AICC बैठक-भाजपा का रास्ता है हिंसक और देश को बांटने वाला: सोनिया गांधी

  • AICC बैठक-भाजपा का रास्ता है हिंसक और देश को बांटने वाला: सोनिया गांधी
You Are HereNational
Friday, January 17, 2014-1:33 PM

नई दिल्ली: सांप्रदायिकता को देश के लिए सबसे बड़ा खतरा करार देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को समाज को बांटने वाली और हिंसा भड़काने वाली पार्टी बताया और कहा कि अगला चुनाव धर्म निरपेक्ष परंपरा को बचाने की जंग साबित होगा। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की बैठक को संबोधित करते हुए सोनिया गांधी ने यह भी साफ कर दिया कि पार्टी अपनी परंपरा पर कायम रहते हुए प्रधानमंर्तीं पद के लिए उम्मीदवार की घोषणा नहीं करेगी।

सोनिया गांधी ने आज एआईसीसी की बैठ में कहा कि कांग्रेस आगे की लड़ाई के लिए तैयार हैं। नेहरू ने पहले ही कहा था कि कांग्रेस के लिए आगे का रास्ता मुश्किलों भरा होगा, हम हार से हताश नहीं हुए हैं। राहुल गांधी को पीएम उम्मीदवार बनाने की मांग पर सोनिया गांधी ने कहा कि राहुल पर पार्टी का निर्णय अंतिम है। सोनिया गांधी ने कहा कि हमारी सरकार ने आम आदमी के लिए कई बड़े कदम उठाए हैं। सोनिया गांधी ने कहा कि खाद्य सुरक्षा देने से जनता को फायदा मिलेगा और मनरेगा के जरिए गांव में रहने वाले लोगों को रोजगार मिला। सोनिया गांधी ने बैठक में कहा कि किसानों की समृद्धि बढ़ी है।

आज कांग्रेस की रणनीति पर तालकटोरा स्टेडियम में बड़ी बैठक हो रही है। राहुल गांधी को 'मिशन 2014' की कमान सौंपी गई है। सोनिया गांधी ने कहा कि पीएमपद कोई पंपरमरा नहीं है। गौरतलब है कि कांग्रेस के अधिकतर नेता राहुल गांधी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित करने के पक्ष में थे लेकिन पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कल भी यह कहकर पार्टी नेताओं की राय को खारिज कर दिया था कि चुनाव के पहले प्रत्याशी घोषित करना पार्टी की परंपरा में नहीं है।

राहुल पीएम उम्मीदवार के रूप में प्रोजेक्ट नहीं होंगे लेकिन चुनाव उन्हीं की अगुवाई में लड़ा जाएगा। यानी पार्टी ने ये गुंजाइश बचा ली कि अगर पार्टी चुनाव में कामयाबी का झंडा लहराती है तो राहुल को राजकुमार से सम्राट बनाने के भरपूर मौके हाथ में रहे।

सोनिया गांधी के भाषण के प्रमुख अंश
-कांग्रेस का इतिहास जोड़ने वाला
-गरीबी मिटने तक चैन से नहीं बैठेंगे
-भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए कांग्रेस प्रतिबद्ध. लोकपाल बिल हमारा सबसे बड़ा हथियार। आने वाले समय में और भ्रष्टाचार विरोधी बिल पास किए जाएंगे।
-कृषि और उद्योग के क्षेत्र में काम किए। राजनीति में हार जीत से बच नहीं सकते।
-RTI के जरिए आम जनता को ताकत दी।
-झूठे आरोपों के बगैर हमारी सरकार अडिग रही। हमारी सरकार से ज्यादा काम किसी और सरकार ने नहीं किया।
-महिला अधिकारों को हमने पुख्ता किया। सांप्रदायिक शक्तियां सबसे बड़ा खतरा।
-कांग्रेस का रास्ता लोगों को जोड़ने वाला रहा है। हिंसा भड़काने वाली विचारधारा कैसे बर्दाश्त करें? विपक्ष वाले नरमी का नकाब ओढ़े हैं


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You