बेटे को मृत समझ बैठे माता-पिता को वह मिला भी तो सलाखों के पीछे

  • बेटे को मृत समझ बैठे माता-पिता को वह मिला भी तो सलाखों के पीछे
You Are HereNational
Sunday, January 19, 2014-12:25 PM

नागपुर: माता-पिता जिस बेटे को मृत मान रहे थे वह उन्हें पांच साल बाद मिला लेकिन वह पुलिस हिरासत में। रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) ने पिछले सप्ताह नागपुर में मध्यप्रदेश के छिंदवाडा जिले के किशनपुर गांव में रहने वाले आरोपी आशीष सोनी (29) को रेलवे स्टेशन पर खडी मिलेनियम एक्सप्रेस से पंखे चुराते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया था1 आरोपी के गिरफ्तार होने का समाचार अखबार में पढने के बाद उसका परिवार उससे मिलने के लिए नागपुर में पहुंचा। आरोपी के पिता गणेश सोनी जब अपनी पत्नी के साथ बेटे से मिलने यहां पहुंचे तो वह सलाखों में कैद मिला1 उसे इस स्थिति में देख माता-पिता सिसकने लगे।

गणेश सोनी के अनुसार करीब पांच वर्ष पहले उनके गांव में एक युवक की हत्या होने से आसपास के लोगों ने अफवाह उड़ा दी थी कि आशीष सोनी की हत्या के बाद उसका शव कही फेंक दिया गया है। इसके बाद सोनी ने बेटे की गुमशुदगी की शिकायत जिले के सौंसर और बिछवा थाने में दर्ज कराई थी1 काफी समय  के बाद माता-पिता ने बेटे आशीष के इस दुनिया में नही होने की बात कठोर मन से स्वीकार कर ली थी1 इस दौरान आरोपी आशीष पढाई में मन नही लगने के कारण गांव से भागकर नागपुर आ गया था और अपराधिक गतिविधियों में लिप्त होकर दिन काट रहा था1 आरोपी ट्रेनों में पंखे की तांबे की क्वायल चोरी कर बेचकर पेटभर कर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर रात बिताता था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You