‘घमंड और अभ्रद भाषा बनी AAP का हिस्सा’

  • ‘घमंड और अभ्रद भाषा बनी AAP का हिस्सा’
You Are HereNational
Tuesday, January 21, 2014-6:12 PM

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में दो दिन से संसद के सामने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में चल रहे आम आदमी पार्टी के धरने से पैदा हुई अजीब स्थिति को देखते हुए कांग्रेस ने आज कहा कि अपने वादों पर खरी उतरती नहीं दिख रही दिल्ली सरकार से समर्थन वापसी के बारे में फैसला उचित समय पर लिया जाएगा। कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के इस बयान से आज साफ हो गया कि आप की सरकार को बेहद ऊहापोह और भीतरी मतभेदों के बाद समर्थन देने के फैसले को बदलने के लिए पार्टी में सोच विचार तेज हो चला है। प्रवक्ता ने आम आदमी पार्टी पर अहंकार और अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश के राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस की तैयारियों तक में बाधा डाली जा रही है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल देश के नागरिकों के अधिकार और देश के संविधान तक को चुनौती दे रहे हैं।  यह पूछने पर कि ऐसी सरकार को कांग्रेस का समर्थन कब तक चलेगा।

सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा कि पार्टी ने यह सोचकर आम आदमी पार्टी का समर्थन दिया था कि वह दिल्ली की जनता की भलाई और उसके हकों के लिए काम करेगी लेकिन उसका अब तक का व्यवहार यह दिखाता है कि वह अपने वादों पर खरी उतरती प्रतीत नहीं हो रही है। सूरजेवाला ने कहा केजरीवाल और उनकी टीम देश के संवैधानिक ढांचे को तोडऩे की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल अपना वादा पूरा नहीं कर पाए हैं। ऐसा लगता है कि घमंड और अभद्र भाषा आम आदमी पार्टी का हिस्सा बन चुकी है। उन्होंने कहा कांग्रेस विधायक दल और पार्टी का नेतृत्व इस बारे में उचित समय पर उचित निर्णय लेगा। सुरजेवाला ने कहा कि श्री केजरीवाल अपने से 25 साल बड़े गृहमंत्री और दलित नेता सुशील कुमार शिंदे के लिए अभद्र शब्दावली का प्रयोग कर रहे हैं1 उनके सहयोगी ने विपक्ष के नेता और पूर्व कानून मंत्री के लिए अपशब्द का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल खुद अपने पार्टी वालों को घमंड नहीं करने की सलाह देते रहे हैं लेकिन ऐसा लगता है कि अहंकार और अभद्रता अब उनकी और उनकी पार्टी की भाषा बन गई है।

उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस की परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे आ रहे हैं और एशिया की दो बडी ताकतें विचार विमर्श करेंगी। ऐसे में किस प्रकार का संदेश दुनिया में भारत के बारे में जाएगा। कांग्रेस का यह रूख ऐसे समय सामने आया है जब दो दिन पहले ही वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा था कि कांग्रेस का आम आदमी पार्टी को समर्थन देना गैर जरूरी था। उनका कहना था कि इस पार्टी को समर्थन देने के मुद्दे पर कांग्रेस भीतर से बंटी हुई थी।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You