लालू ने की कांग्रेस की सराहना, पासवान को कहा सज्जन व्यक्ति

  • लालू ने की कांग्रेस की सराहना, पासवान को कहा सज्जन व्यक्ति
You Are HereNational
Tuesday, January 21, 2014-9:46 PM

नई दिल्ली : कांग्रेस और लोजपा द्वारा संशय में रखे जाने के बीच राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने आज उन्हें आकर्षित करने का प्रयास किया और सांप्रदायिक ताकतों  के खतरे का जिक्र करते हुए तीनों दलों के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लडऩे की जरूरत पर बल दिया।

लालू प्रसाद ने कांग्रेस की सराहना करते हुए उसे धर्मनिरपेक्ष ताकतों का ऐसा संगठन बताया जिसकी देश को आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि लोजपा नेता रामविलास पासवान सज्जन व्यक्ति हैं लेकिन उनके आसपास के कुछ लोग उन्हें सही फैसला नहीं करने दे रहे हैं।

प्रसाद ने अपने प्रतिद्वंद्वी नीतीश कुमार पर हमला बोला और आरोप लगाया कि लंबे समय तक भाजपा के साथ मित्रता के बाद अब वह धर्मनिरपेक्ष होने का दावा कर रहे हैं। लालू ने कहा कि रामविलास पासवान के साथ मेरे संबंध खराब नहीं हैं। हम दोनों नियमित रूप से एक दूसरे से बातचीत करते हैं। मैंने कभी नहीं कहा है कि हम रामविलास पासवान की पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करेंगे।

पासवान सज्जन व्यक्ति हैं, अच्छे इंसान हैं। लेकिन उनके आसपास कुछ लोग हैं जो उन्हें खुद से कोई फैसला नहीं लेने देते। कुछ लोग ऐसे हैं जिनकी अलग सोच है। मेरी ओर से उनके प्रति अनादर का कोई भाव नहीं। उनकी पार्टी के साथ हमारा पहले भी गठबंधन था और अब भी रहेगा। मेरा लक्ष्य सांप्रदायिक ताकतें हैं। एक या दूसरे नेता जो कह रहे हैं, मैं उस पर गौर नहीं कर रहा।

उन्होंने कहा कि जब वह ‘हम’ शब्द का प्रयोग करते हैं तो, यह सिर्फ राजद नहीं होता। इसमें कांग्रेस और लोजपा भी साथ होता है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोकसभा चुनावों के लिए गठबंधन की खातिर कांग्रेस के साथ किसी बातचीत से इंकार किया था। लेकिन बिहार में गठबंधन के लिए लोजपा और जदयू के करीब होने की अटकलों के बीच कुमार ने पासवान की सराहना की थी।

लालू ने कहा कि सांप्रदायिकता को हवा देेने वाली पार्टी के साथ लंबे समय तक रहने के बाद अब राजग से अलग होकर कलंक मिटाने का प्रयास गंगा स्नान करने जैसा है। यह पूछे जाने पर की क्या आप नीतीश कुमार के साथ जा सकते हैं। उन्होने कहा नहीं, यह असंभव है।

उन्होने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनावों में सांप्रदायिक और धर्मनिरपेक्ष ताकतों के बीच मुकाबला होगा। मैं कोई चापलूसी नहीं कर रहा। देश को अभी कांग्रेस की सख्त जरूरत है। जिस तरीके से संप्रग-1 और संप्रग-2 ने काम किया, क्या किसी सरकार ने वैसा काम किया है? बिहार में भाजपा के लिए कोई संभावना नहीं है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You