दाभोलकर हत्याकांड: आरोपियों को दी गई थी 25 लाख रुपए की पेशकश!

  • दाभोलकर हत्याकांड: आरोपियों को दी गई थी 25 लाख रुपए की पेशकश!
You Are HereNational
Wednesday, January 22, 2014-3:50 PM

पुणे: अंधविश्वास विरोधी कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर की हत्या मामले में गिरफ्तार दो कथित आग्नेयास्त्र विक्रेताओं को 28 जनवरी तक यहां की एक अदालत ने पुलिस हिरासत में भेज दिया। हत्या की आपराधिक साजिश में शामिल आरोपियों मनीष नागौरी और विकास खंडेलवाल को प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट ए बी शेख के समक्ष पेश किया गया। अभियोजन पक्ष ने उन्हें पूछताछ के लिए 14 दिन की हिरासत में भेज दिया।

पुणे पुलिस ने ठाणे जेल से कल उन्हें हिरासत में लिया। वहां वे अलग मामले में बंद थे। दोनों ने अदालत से कहा कि उनका हत्या से कोई लेना-देना नहीं है और उनके वकील ने दावा किया कि उनके मुवक्किल को अपना गुनाह कबूल करने के लिए महाराष्ट्र एटीएस ने 25 लाख रपये की पेशकश की थी। रिमांड की अर्जी का बचाव पक्ष ने विरोध किया। उन्होंने दावा किया कि बहुचर्चित मामले की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस पर राजनैतिक दबाव की वजह से दोनों को बलि का बकरा बनाया जा रहा है।

लोक अभियोजक महादेव पॉल ने कहा कि आरोपी से हिरासत में लेकर पूछताछ करना जरूरी है ताकि अज्ञात बंदूकधारियों द्वारा अपराध करने में इस्तेमाल की गई मोटरसाइकिल का पता लगाया जा सके। अज्ञात बंदूकधारियों ने शहर के एक पुल पर 20 अगस्त 201& को दाभोलकर की गोली मारकर हत्या की थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You