डिप्लोमेटिक एंक्लेव बनाने का रास्ता साफ

  • डिप्लोमेटिक एंक्लेव बनाने का रास्ता साफ
You Are HereNational
Thursday, January 23, 2014-2:04 PM
 नई दिल्ली (धनंजय कुमार): चाणक्यपुरी की तर्ज पर द्वारका में नई डिप्लोमेटिक एंक्लेव बनाए जाने का रास्ता साफ हो गया है। दिल्ली विकास प्राधिकरण ने इस मसौदे से जुड़े प्रस्ताव को विदेश मंत्रालय ने मंजूरी दे दी है। इसे द्वारका फेस-2 के सेक्टर- 25/26 में बनाया जाएगा। इस एंक्लेव में 70 देशों के दूतावास बनाने की योजना थी, लेकिन अभी 39 देशों के दूतावास ही बनाए जाएंगे और बाकी बचे देशों के दूतावासों को अगले चरण में पूरा किया जाएगा। अब तक इन देशों के दूतावास किराए के भवन में चल रहे हैं।
 
ज्ञात हो कि चाणक्यपुरी में विभिन्न देशों के दूतावासों के अलावा कई राज्यों के भवन भी हैं। इसी वजह से इस इलाके को अति सुरक्षित क्षेत्र में भी माना जाता है। साथ ही यहां की सुंदरता के प्रति देशी ही नहीं विदेशी भी कायल हैं। डीडीए अधिकारी के अनुसार, चाणक्यपुरी में कई विदेशी एंबेसी को अब भी जगह नहीं मिली हैं। इनमें मुख्य रूप से छोटे देशों की संख्या अधिक है। बताया जाता है कि द्वारका फेस-2 में तकरीबन 2872 हेक्टेयर भूमि है,  इसी भूमि में से कुछ हिस्सा दूतावास के लिए दिया जाएगा। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You