चुनावी सर्वे का मतलब मनोरंजक कार्यक्रम: नीतीश

  • चुनावी सर्वे का मतलब मनोरंजक कार्यक्रम: नीतीश
You Are HereNational
Thursday, January 23, 2014-10:06 PM

पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को मीडिया में दिखाए जा रहे चुनावी सर्वेक्षण को महत्वहीन बताते हुए इसे एक मनोरंजक कार्यक्रम बताया। पटना में एक सरकारी कार्यक्रम में भाग लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि वे पहले से भी कहते रहे हैं कि उन्हें ऐसे सर्वेक्षणों में विश्वास नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘दो-चार लोगों से पूछ लेने से क्या चुनावी सर्वे हो जाता है? चुनावी सर्वे अब विश्वसनीय नहीं रह गए है और यह केवल एक मनोरंजक कार्यक्रम बनकर रह गया है।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ दिनों पहले कुछ लोगों और एक निजी चैनल द्वारा कराया गया सर्वे कुछ हद तक सही होता था, लेकिन वे सब अब सर्वे करते ही नहीं हैं, इसलिए ऐसे सर्वे को गंभीरता से नहीं लिया जाना चाहिए। ये सब बेकार की चीजें हैं। किसी का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि चुनाव के परिणाम आने के बाद ‘कुछ लोगों’ को ज्यादा तकलीफ  होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You