नर्सरी एडमिशन प्रक्रिया,मनोचिकित्सक,सोशल साइट्स

  • नर्सरी एडमिशन प्रक्रिया,मनोचिकित्सक,सोशल साइट्स
You Are HereNational
Sunday, January 26, 2014-12:48 AM

<div>नई दिल्ली : नर्सरी एडमिशन प्रक्रिया भले शुरू हो गई हो लेकिन पैरेंट्स की टेंशन खत्म नहीं हुई है। एक आंकड़े के मुताबिक पैरेंट्स अपनी परेशानी लेकर मनोचिकित्सक के पास पहुंच रहे हैं। सोशल साइट्स पर पैरेंट्स के पोस्ट से भी साफ पता चलता है पैरेंट्स टेंशन में हैं। </div> <div> </div> <div>एडमिशन नर्सरी डॉट कॉम के सुमित वोहरा कहते हैं उन्हें जानकारी मिली है कि काफी पैरेंट्स अपने दफ्तरों में छुट्टियां नहीं मिलने की वजह से टेंशन में हैं। उन्होंने कहा कि पहले पैरेंट्स ने एक से 15 जनवरी के बीच छुट्टी ली थी लेकिन बाद में एडमिशन प्रक्रिया आगे बढ़ गई। उन्हें दुबारा छुट्टी लेनी पड़ रही है। हालांकि सोशल साइट्स पर पैरेंट्स की परेशानी देखी जा सकती है, एक पैरेंट ने अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखा है कि उनके और पति के बीच भी इसको लेकर कहासुनी हुई।</div> <div> </div> <div> ब्लॉग में लिखा है कि पति-पत्नी तय नहीं कर पा रहे थे कि कौन छुट्टी ले। दिल्ली यूनिवर्सिटी में मनोविज्ञान की प्रो. वसुधा कहती हैं कि पैरेंट्स को परेशान होने की जरूरत नहीं है। अगर माता-पिता तनाव में रहेंगे तो बच्चे पर भी असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि स्कूलों को लेकर भी ज्यादा परेशान न हों। सुमित वोहरा का कहना है कि कई पैरेंट्स इसलिए भी तनाव में हैं क्योंकि उनके एरिया में अच्छे स्कूल या तो नहीं है या फिर बेहद कम हैं। </div>


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You