15वीं लोकसभा के कार्यकाल में हुआ सबसे कम काम

  • 15वीं लोकसभा के कार्यकाल में हुआ सबसे कम काम
You Are HereNcr
Monday, February 03, 2014-3:06 PM
नई दिल्ली: आजादी के बाद जहां देश को तरक्की की गाथा लिखनी चाहिए वहीं हमारे देश का सबसे बड़ा दुर्भाग्य यह है कि हंगामे और विरोध के चलते 15वीं लोकसभा में अब तक सबसे कम काम हुआ है। आजादी से लेकर आज तक सबसे कम काम 15वीं लोकसभा के कार्यकाल में हुआ है। 5 फरवरी से इस लोकसभा का आखिरी सत्र शुरू हो जाता है और 5 साल के कार्यकाल में सिर्फ 165 बिल ही पास किये गए हैं जबकि 126 बिल दोनों सदनों में लटके पड़े हैं।

इनमें से 72 बिल लोकसभा में हैं जो इसके कार्यकाल के समाप्त होने के साथ ही रद्द हो जाएंगे। महंगाई भ्रष्टाचार के मुद्दों पर 15वीं लोकसभा के लगभग हर सत्र में मुश्किल से ही कोई काम हो सका है। इसी का नतीजा है कि कामकाज के लिहाज से लोकसभा का ये अब तक का सबसे खराब कार्यकाल रहा है। 5 फरवरी से शुरू हो रहे अंतिम सत्र में भी हंगामा होना लगभग तय है हांलाकि संसदीय कार्यमंत्री ने गतिरोध दूर करने के लिए सभी दलों की बैठक बुलाई है लेकिन इससे कोई हल निकलने की उम्मीद नही है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You