दिल्ली में प्रदूषण की बिगड़ती स्थिति पर विचार करेगा SC

  • दिल्ली में प्रदूषण की बिगड़ती स्थिति पर विचार करेगा SC
You Are HereNational
Monday, February 03, 2014-9:44 PM

नई दिल्ली: राजधानी में प्रदूषण के बढ़ते स्तर से उत्पन्न स्थिति पर उच्चतम न्यायालय दस फरवरी को विचार करेगा। न्यायमूर्ति ए के पटनायक की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के समक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने आज इस मसले का उल्लेख करते हुए न्यायालय से इस पर विचार करने का अनुरोध किया। साल्वे ने कहा कि दिल्ली अब दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर हो गया है लेकिन कोई भी कुछ नहीं कर रहा है। उन्होंने कहा कि राजधानी के चारों ओर बाईपास बनाने की परियोजना भी अधर में लटकी है।

न्यायाधीशों ने जानना चाहा कि क्या सरकार ने राजधानी में वाहनों की संख्या नियंत्रित करने का प्रयास किया है। इस पर साल्वे ने कहा कि कुछ भी नहीं किया है। न्यायालय को ही इसकी निगरानी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वह शीघ्र ही इस मसले पर विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करेंगे। येल यूनीवर्सिटी एन्वायरन्मेन्ट इंडेक्स की रिपोर्ट के आंकड़ों के अनुसार दिल्ली ने दुनिया के सबसे प्रदूषित शहर की होड़ में बीजिंग को पीछे छोड़ दिया है।

अमेरिका स्थित येल यूनीवर्सिटी ने पर्यावरण से संबंधित नौ पैमानों पर 178 देशों का तुलनात्मक अध्ययन करके अपनी रिपोर्ट में कहा था कि पर्यावरण के क्षेत्र में भारत का रिकार्ड नगण्य है। नासा के उपग्रह द्वारा एकत्र आंकड़ों से पता चलता है कि दिल्ली में 81 लाख पंजीकृत वाहन हैं और इनसे सबसे अधिक 2.5 प्रदूषण स्तर के प्रदूषण कणों का उत्सर्जन होता है। दिल्ली के बाद बीजिंग का नंबर आता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You