सतलुज में अपशिष्ट पानी छोडना बंद करें पंजाब: वसुंधरा

  • सतलुज में अपशिष्ट पानी छोडना बंद करें पंजाब: वसुंधरा
You Are HereNational
Monday, February 03, 2014-10:20 PM

जयपुर: राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से सतलुज एवं इसकी सहायक नदियों में औद्योगिक इकाइयों द्वारा अपशिष्ट पानी छोडने पर रोक लगाने का आग्रह किया हैं। श्रीमती राजे ने इसके लिए बादल को पत्र लिखकर यह आग्रह किया। उन्होंने इसके जिम्मेदार औद्योगिक इकाईयों एवं स्थानीय निकायों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का आग्रह करते हुए बताया कि पंजाब की ओर से औद्योगिक अपशिष्ट एवं सीवरेज को बिना शोधन के निरंतर रुप से सतलुज एवं इसकी सहायक नदियों में बहाए जाने के कारण इसका पानी अत्यधिक प्रदूषित हो गया है।

उन्होंने बताया कि हरिके बैराज से नहरों के माध्यम से छोडे जाने वाले प्रदूषित पानी के कारण इंदिरा गांधी फीडर में पानी की गुणवत्ता को लेकर राजस्थान सरकार बेहद चिंतित है क्योंकि पश्चिमी राजस्थान के आठ जिलों में इस फीडर का पानी पेयजल के रुप में उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यह दूषित पानी स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक हानिकारक है। इसके कारण इस क्षेत्र के लोग जल जनित बीमारियों से ग्रसित हो रहे है।

उन्होंने बताया कि राजस्थान सरकार ने इस संबंध में बार-बार पंजाब सरकार से इस मामलें में आग्रह किया है लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। नवंबर 2012 में केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने पंजाब से निकलने वाली नहरों के पानी की गुणवत्ता की जांच कर अपनी रिपोर्ट में पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को इस संबंध में महत्वपूर्ण सुझाव दिए थे जिन इन सुझावों पर तुरंत कार्रवाई करना जरुरी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You