तेलंगाना के समर्थक एवं विरोधी कांग्रेसी नेता राजधानी में देंगे धरना

  • तेलंगाना के समर्थक एवं विरोधी कांग्रेसी नेता राजधानी में देंगे धरना
You Are HereNational
Wednesday, February 05, 2014-2:07 AM

नई दिल्ली: तेलंगाना विधेयक को लेकर दबाव बढ़ाते हुए तेलंगाना राज्य के निर्माण के समर्थक एवं विरोधी कांग्रेसी नेता कल यहां संसद सत्र शुरू होने के साथ अलग-अलग धरना देने की तैयारी कर रहे हैं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री संभावित तौर पर तेलंगाना के विरोध में जंतर मंतर पर धरने में शामिल होंगे। वहीं तेलंगाना इलाके के रहने वाले राज्य के उप मुख्यमंत्री दामोदर राजा नरसिम्हा राजघाट पर धरना देंगे।

मुख्यमंत्री के करीबी सूत्रों ने बताया कि सीमांध्र क्षेत्र के केंद्रीय मंत्रियों और आंध्र प्रदेश के मंत्रियों विधायकों एवं विधान पार्षदों समेत कई नेताओं के धरने में शामिल होने की संभावना है। दूसरी तरफ नरसिम्हा के साथ धरने में तेलंगाना क्षेत्र के मंत्रियों समेत कांग्रेसी विधायकों के शामिल होने की उम्मीद है। आंध्र प्रदेश की भारी उद्योग मंत्री गीता रेड्डी ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम अपनी भावनाएं व्यक्त करने के लिए सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक कल राजघाट मे धरना देंगे।’’ मुख्यमंत्री की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि वह आलाकमान की अवज्ञा कर रहे हैं।

दूसरी तरफ तेदेपा के विधायकों ने आज राज्य को विभाजन से बचाने की मांग करते हुए यहां आंध्र प्रदेश भवन में धरना दिया। तेदेपा के विधायक केशव ने कहा, ‘‘यह विरोध प्रदर्शन आंध्र प्रदेश पुनर्गठन विधेयक के मुद्दे को चर्चा में लाने के लिए किया गया। राज्य विधानसभा ने ध्वनि मत से विधेयक को खारिज कर दिया था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम राष्ट्रपति से अनुरोध करते हैं कि वह विधेयक संसद में ना भेजे।’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You