जनलोकपाल पर आर-पार के मूड में ‘आप’

  • जनलोकपाल पर आर-पार के मूड में ‘आप’
You Are HereNational
Thursday, February 06, 2014-1:41 AM

नई दिल्ली(अशोक शर्मा):  जन लोकपाल बिल को पारित कराने को लेकर दिल्ली सरकार और कांग्रेस के बीच टकराव की नौबत आ सकती है। कांग्रेस के ज्यादातर विधायकों का दो-टूक कहना है कि विधानसभा के सदन से बाहर नियमों के विरूद्ध असंवैधानिक रूप से किए जाने वाले आप सरकार के कार्य में वह साथ नहीं देंगे। देखना यह है कि बिल पारित हो पाएगा या नहीं?

दूसरी ओर दिल्ली के शहरी एवं विकास मंत्री मनीष सिसोदिया का कहना है कि कांग्रेस ने जब 45 सालों से जब इस बिल को आज तक पारित नहीं किया, तो उनसे क्या उम्मीद रख सकते हैं। सिसोदिया ने कहा कि हम अपना काम कर रहे हैं।

वैसे 16 फरवरी को आईजीआई स्टेडियम में विधानसभा का विशेष सत्र आयोजित होने की उम्मीद खत्म होने के बाद सरकार अब तीन जगहों तालकटोरा स्टेडियम, त्यागराज स्टेडियम या फिर छत्रसाल स्टेडियम में विशेष सत्र बुलाने की तैयारी में जुटी है। जगह बुक होते ही आम जनता को इसकी जानकारी दे दी जाएगी। लेकिन कांग्रेस ने अपना स्टैंड साफ कर दिया है।

 देखने वाली बात यह होगी, यदि दिल्ली सरकार किसी स्टेडियम को बुक करवाकर वहां बिल पारित करने पर अड़ी रहती है, तो उस परिस्थिति में कांग्रेस अल्पमत सरकार का समर्थन करेगी या उस दिन कोई खेल हो सकता है। वैसे इस मुद्दे पर कांग्रेस विधायक दल की मंगलवार को हुई बैठक में पार्टी के सभी विधायकों ने जमकर अपनी भड़ास निकाली थी। उनका साफ कहना था कि गलत तरीके से हो रहे आप सरकार के काम में हमें साथ नहीं देना चाहिए।

इस बिल को पारित कराने के लिए उपराज्यपाल नजीब जंग को अनदेखा करना और केंद्र सरकार के पास इसे नहीं भेजना सरासर दिल्ली विधानसभा के कानून और नियमों के साथ-साथ संविधान की भी अवहेलना है। एक विधायक का साफ कहना था कि आप सरकार कानून को ताकपर रखकर नौटंकी कर रही है। बैठक में ओखला के विधायक आसिफ मोहम्मद खान ने पिछले दिनों यहां तक कह दिया था कि मैं सदन में केजरीवाल सरकार के विरूद्ध वोट दूंगा।

बेशक कांग्रेस पार्टी चाहे तो मुझे पार्टी से निकाल दे। उन्होंने कहा कि पार्टी से निकाले जाने की बात उन्होंने आवेश में कह दी थी।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरविंदर सिंह का कहना है कि आप सरकार उन्हें समर्थन वापिस लेने के लिए उकसा रही है, लेकिन कांग्रेस असंवैधानिक कार्य करने में आप का साथ नहीं देगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You