PM ने सीधेपन का मुलम्मा चढ़ा रखा है: जेटली

  • PM ने सीधेपन का मुलम्मा चढ़ा रखा है: जेटली
You Are HereNational
Thursday, February 06, 2014-9:00 AM

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर महत्वपूर्ण संवैधानिक पदों पर नियुक्तियों नियुक्तियों से संबंधित कॉलेजियम प्रणाली को तहस-नहस करने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने लोकपाल की नियुक्ति से पहले ही इस संस्था को नुकसान पहुंचा दिया है। जेटली का कहना है कि डॉ. सिंह का कार्यकाल जल्द ही समाप्त हो रहा है।

 

उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान अनेक संस्थानों को नुकसान पहुंचाया है और विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्तियों से संबंधित कॉलेजियम प्रणाली को भी उन्होंने अछूता नहीं छोडा है। भाजपा नेता ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि प्रधानमंत्री ने लोकपाल की नियुक्ति से पहले ही इस संस्था को नुकसान पहुंचा दिया है। उन्होंने लिखा है कि लोकपाल की नियुक्ति से संबंधित कालेजियम के पांचवें सदस्य के रूप में कानूनविद पी पी राव के अलावा किसी अन्य कानूनविदों और न्यायविदों पर विचार करने से इनकार करना संदेह पैदा करता है।

 

उन्होंने लोकसभा में विपक्ष की नेता एवं लोकपाल गठन से संबंधित कॉलेजियम की सदस्य सुषमा स्वराज द्वारा सुझाए गए एफ एस नरीमन, सोली सोराबजी के परासरन और हरीश साल्वे जैसे कानूनविदों के नामों पर विचार करने के बजाय राव के नाम पर प्रधानमंत्री के अड़ जाने को लेकर संदेह जाहिर किया।

 

वरिष्ठ भाजपा नेता ने प्रधानमंत्री को आत्मावलोकन की सलाह देते हुए कहा कि डा. सिंह ने भले ही खुद पर सीधा होने का मुलम्मा चढ़ा रखा हो लेकिन वह जरूरत से ज्यादा राजनीतिक हैं। उल्लेखनीय है कि लोकपाल चयन से संबंधित कालेजियम के पांचवें सदस्य के नाम पर विवाद खडा हो गया है। इसे लेकर स्वराज ने अपनी आपत्ति राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से भी दर्ज कराई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You