मोदी का कांग्रेस से सवाल, प्रणब मुखर्जी को क्‍यों नहीं बनाया PM?

  • मोदी का कांग्रेस से सवाल, प्रणब मुखर्जी को क्‍यों नहीं बनाया PM?
You Are HereNational
Thursday, February 06, 2014-9:28 AM

नई दिल्ली/कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी(भाजपा)के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कल नेहरु-गांधी परिवार पर तीखा हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ और अनुभवी नेता प्रणव मुखर्जी को प्रधानमंत्री बनने का मौका नहीं देकर उनका अपमान किया है। मोदी ने यहां ब्रिगेड परेड मैदान में एक जनसभा में नेहरु गांधी परिवार की कडी आलोचना करते हुए कहा कि मुखर्जी को प्रधानमंत्री का अवसर न देकर उनका दो बार अपमान किया गया।

 

उन्होंने कहा कि प्रथम बार 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद मुखर्जी को प्रधानमंत्री बनाया जा सकता था और दूसरी बार वर्ष 2004 में उनको यह मौका दिया जा सकता था लेकिन दोनों मौकों पर कांग्रेस ने उनको यह अवसर नहीं देकर उनका अपमान किया है। मोदी ने कहा कि वर्ष 2004 में मुखर्जी कांग्रेस के वरिष्ठतम नेता थे लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री पद के लिए मनमोहन सिंह का चयन किया। हालांकि बाद में कांग्रेस ने मुखर्जी का देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद राष्ट्रपति पद के लिए चयन किया। जनसभा में भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह भी मौजूद थे।
 
तीसरे मोर्चे की आलोचना
तीसरा मोर्चा के बनाने वामदलों और अन्य दलों के प्रयासों की कड़ी आलोचना करते हुए मोदी ने कहा कि तीसरें मोर्चें को हवा को पहचानने दो। लोकसभा चुनावों के बाद भाजपा की सरकार बनेगी। उन्होंने आरोप लगाया कि तीसरा मोर्चे के गठन का विचार देश को तीसरे दर्जे का देश बनाने का विचार है। तीसरी मोर्चे से जुड़े राजनीतिक दलों के कारण पूर्वी राज्य पिछड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि तीसरे मोर्चे को हमेशा के लिए विदा करने का वक्त आ गया है। भाजपा की पश्चिम बंगाल में यह जनसभा में पूर्वी क्षेत्र में चुनाव अभियान की शुरूआत थी। भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने तीसरे मोर्चे की चर्चा को हास्यास्पद बताया है और कहा कि यदि यह हकीकत बन जाता है तो भारत को ‘तीसरे दर्जे’ का देश बना देगा।

 

मोदी ने कहा कि प्रस्तावित मोर्चा की बात करने वाले लोगों को समझ लेना चाहिए कि देश में भाजपा की जबरदस्त हवा चल रही है। उन्होंने कहा कि जो लोग दिल्ली में बैठकर तीसरे मोर्चे की बात कर रहे हैं। उन्हें जमीन पर आकर देखना चाहिए कि किसकी हवा चल रहा है। उन्होंने समझ लेना चाहिए कि देश का मतदाता अपना निर्णय ले चुका है। वाम दलों पर पूर्वोत्तर क्षेत्र को बरबाद करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि वाम पंथी जिस धर्मनिरपेक्षवाद की बात करते हैं वह वोट बैंक की राजनीति है और इससे जरिए सिर्फ मुसलमान को गुमराह किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जो लोग धर्मनिरपेक्षता की बात कर रहे हैं। वे अल्पसंख्यकों के साथ छद्म कर रहे हैं।


नकवी ने किया मोदी के बयान का समर्थन
भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने मोदी का समर्थन करते हुए कहा कि प्रणव मुखर्जी बहुत काबिल नेता है और कांग्रेस ने डा. मनमोहन सिंह के बजाय मुखर्जी को प्रधानमंत्री बनाया होता तो उसे इतने बुरे दिन नही देखने पड़ते। नकवी ने यूनीवार्ता से कहा कि हर दृष्टि से मुखर्जी बहुत काबिल नेता हैं और डा. मनमोहन सिंह की न तो राजनीतिक सोच है और न ही उनकी समझ है।

ममता बनर्जी पर साधा निशाना
मोदी ने चुनाव प्रचार अभियन रैली में वाम दलों और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार पर सीधा हमला बोलते हुए जनता से सवाल किया कि बनर्जी राज्य में आखिर कौन सा परिवर्तन लाई हैं। उन्होंने वाम दलों की ओर इशारा करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल को बर्बाद करने औेर 35 वर्ष तक सत्ता में रहने वाली पार्टी को शासन से जड़ से बेदखल कर राज्य की जनता ने काबिले तारीफ काम किया लेकिन राज्य के राजनीतिक परिदृश्य में परिवर्तन करने के बाद आखिर उन्हें क्या मिला। इसलिए बनर्जी के लिए मतदान करना समय की बर्बादी है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You