राष्ट्रीय घोषणापत्र में स्थानीय मुद्दों को ज्यादा अहमियत देगी कांग्रेस

  • राष्ट्रीय घोषणापत्र में स्थानीय मुद्दों को ज्यादा अहमियत देगी कांग्रेस
You Are HereNational
Sunday, February 09, 2014-11:18 PM
नई दिल्ली (अजीत के. सिंह) : लोकसभा चुनाव के लिए जारी होने वाले अपने राष्ट्रीय घोषणापत्र में भी कांग्रेस पार्टी स्थानीय मुद्दों को ज्यादा से ज्यादा अहमियत देने वाली है। पार्टी के सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार पार्टी द्वारा जारी होने वाले राष्ट्रीय घोषणा पत्र स्थानीय समस्याओं को भी ध्यान में रखकर बनाया जाएगा। 
 
गौरतलब है कि पार्टी इस लोकसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र बनाने से पहले लोगों से राय ले रही है। पार्टी लोगों की राय के अनुसार ही अपनी घोषणा पत्र तैयार करेगी। जैसा कि सूत्र बता रहे हैं कि पार्टी अपने राष्ट्रीय घोषणा पत्र में कुछ पिछड़े राज्यों के लिए अलग से जगह निर्धारित करेगी, जिसमें उन राज्यों के विकास के लिए किए जाने वाले वादों को जगह दिया जाएगा।
 
 दरअसल पार्टी ऐसे राज्यों के मतदाताओं को यह जताना चाहती है कि पार्टी उनकी समस्या को बेहद ही गंभीरता से ले रही है। इनमें पश्चिम बंगाल, बिहार और उड़ीसा जैसे पिछड़े राज्यों की समस्याओं को शामिल किया जा सकता है। 
पार्टी के बिहार से आने वाले एक वरिष्ठ नेता कहते हैं ‘अगर पिछड़े राज्यों की समस्याओं को राष्ट्रीय घोषणापत्र में जगह दी जाती है तो इससे साफ हो जाएगा कि पार्टी उन राज्यों की समस्याओं को लेकर बेहद ही गंभीर है। कई बार राज्यों की गंभीर समस्याओं को राज्यवार घोषणापत्रों से समेट देने से लोगों को ऐसा लगता है कि यह केवल चुनावी वादा है। 
कांग्रेस पार्टी चाहती है कि राज्यों की ऐसे समस्याओं को राष्ट्रीय स्तर पर उठाने के साथ ही उनका समाधान भी किया जाए।’ 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You