अतीत का अध्ययन महत्वपूर्ण : प्रणब मुखर्जी

  • अतीत का अध्ययन महत्वपूर्ण : प्रणब मुखर्जी
You Are HereNational
Tuesday, February 11, 2014-1:00 AM

नई दिल्ली: राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि अतीत का अध्ययन महत्वपूर्ण है क्योंकि यह समाज को समय समय पर उसके सामने आने वाली चुनौतियों से निबटने में मदद कर सकता है। छत्तीसगढ़ के राज्यपाल शेखर दत्त द्वारा लिखित पुस्तक पर अपनी टिप्पणी में राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘अतीत का लिखित वृतांत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह ऐसे कई मुददों पर प्रकाश डालता है जिसका समाज को समय समय पर सामना करना होता है।’’

‘रिफ्लेक्शंस आन कंटेम्परेरी इंडिया’ पुस्तक का लोकसभा की अध्यक्ष मीरा कुमार ने राष्ट्रपति भवन में विमोचन किया और इसकी पहली प्रति राष्ट्रपति को दी गई।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You