अपनी रणनीति में सफल रही भाजपा

  • अपनी रणनीति में सफल रही  भाजपा
You Are HereNational
Saturday, February 15, 2014-12:35 AM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): दिल्ली विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद सरकार न बनाने के फैसले पर पार्टी समेत आम लोगों में मतभेद जरूर शुरू हो गए थे लेकिन आज सभी भाजपा नेता व कार्यकत्र्ता समेत सभी लोग भाजपा के उस फैसले का स्वागत कर रहे हैं। विपक्ष में बैठकर भाजपा ने पूरे 49 (सरकार बनने व चलने की अवधि) दिन तक एक तीर से दो निशाने साधते हुए कांग्रेस तथा आम आदमी पार्टी की पोल खोलती रही।

आप सरकार की सभी रणनीतियों पर सवाल उठाने के साथ इसे पूरी तरह से कटघरे में खड़ी करती रही। नतीजा, भाजपा समर्थकों की संख्या में बढ़ोतरी हुई या नहीं, यह तो आगामी चुनाव ही बताएगा लेकिन आप समर्थकों की संख्या में भारी गिरावट आने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।

अब देखना दिलचस्प होगा कि पहले से अंदरुनी गुटबाजी में उलझी भाजपा इस बार के विधानसभा चुनाव में किस तरह से आती है, क्योंकि अब संभावना यह जताई जा रही है कि अप्रैल-मई महीने में होने जा रहे लोकसभा चुनाव के साथ ही दिल्ली विधानसभा चुनाव भी कराए जाएंगे, जो भाजपा की शुरू से कोशिश रही है। जिससे यह कहना गलत नहीं होगा कि जिस मकसद से भाजपा ने विपक्ष में रहने की रणनीति बनाई थी, उसमें काफी हद तक सफल रही। 

राजनीतिक जानकारों की मानें तो भाजपा यदि जोड़-तोड़ की राजनीति कर उस वक्त सरकार बना लेती तो वह सरकार ज्यादा समय तक नहीं चल पाती, साथ ही आम आदमी पार्टी के प्रति लोगों का भावनात्मक लगाव और बढ़ जाता लेकिन आप को सरकार बनाने का मौका देकर वह पूरी रणनीति से लोकसभा के साथ दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी भी काफी हद तक कर चुकी है।

जानकारों का यह भी मानना है कि 49 दिनों तक चली इस सरकार में आप के साथ कांग्रेस की स्थिति और कमजोर हुई है क्योंकि बिजली-पानी व अस्थाई कर्मचारियों को स्थाई करने के मुद्दे पर भाजपा जहां आप को बेनकाब करने में सफल रही। वहीं आप को समर्थन देने के साथ महंगाई और भ्रष्टाचार के मुद्दों पर लगातार घिरती कांग्रेस पार्टी भी कटघरे में खड़ी हो चुकी है। लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव होने पर भाजपा चुनाव प्रचार में मजबूती से लोगों को कह सकती है कि हम चुनाव नहीं चाहते थे क्योंकि चुनाव खर्च का बोझ आम लोगों पर पड़ता लेकिन केजरीवाल ने अपना कत्र्तव्य नहीं निभाया।  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You