Subscribe Now!

जेल से आए इलाज कराने अस्पताल और हो गए सपा में शामिल

  • जेल से आए इलाज कराने अस्पताल और हो गए सपा में शामिल
You Are HereUttar Pradesh
Saturday, February 15, 2014-2:27 PM

बहराइच: एक पुलिसकर्मी पर हमले के मामले में सजायाफ्ता पूर्व विधायक दिलीप वर्मा शुक्रवार को जेल से इलाज के नाम पर बाहर आए और पुलिस हिरासत में जिला अस्पताल में पत्रकारों से बातचीत के दौरान समाजवादी पार्टी (सपा) में शामिल होने की घोषणा की। पुलिस हिरासत में लखनऊ स्थित संजय गांधी परास्नातक आयुर्विज्ञान संस्थान में इलाज करवाकर लौटे वर्मा ने संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस एक डूबता हुआ जहाज है जबकि सपा गरीबों, मजलूमों, किसानों और छात्रों का हित सोचने वाली पार्टी है। सपा अन्याय के खिलाफ संघर्ष करती रही है। उन्होंने कहा कि सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के उन पर बहुत एहसान हैं।

देश का हित सपा के हाथों में ही सुरक्षित है। गौरतलब है कि वर्मा सपा के टिकट पर तीन बार महसी सीट से विधायक रह चुके हैं। वह वर्ष 2012 में कांग्रेस में शामिल हुए थे तो पार्टी ने उन्हें नानपारा विधानसभा सीट से टिकट दे दिया था, लेकिन वर्ष 1998 में एक दलित सिपाही पर हमला करने के आरोप में मिली पांच साल की सजा को उच्च न्यायालय द्वारा बरकरार रखे जाने पर कांग्रेस ने उनके स्थान पर उनकी पत्नी माधुरी वर्मा को चुनाव लड़ाया था जिसमें वह जीत गयी थीं। जिला कारागार के सूत्रों के मुताबिक गत 11 फरवरी को सीने में दर्द की शिकायत पर वर्मा को पीजीआई लखनउ भेजा गया था, जहां से इलाज करवाकर वह आज शाम ही कारागार लौटे हैं। हिरासत में वर्मा द्वारा पत्रकारों से बातचीत किये जाने के प्रति वरिष्ठ अधिकारियों ने अनभिज्ञता जाहिर की है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You